• Breaking News

    Saturday, December 10, 2016

    शिक्षकों के सम्मान के लिए कलमकारों का आभार !


    भिया शिक्षक हमारा आधार स्तंभ है । अपने मारसाब यानी की गुरू नी होते तो हमारी कलम में वो तासीर नी री होती । एक बात बता दे रिया हुं की किसी न किसी की जिंदगी में एक ऐसा शिक्षक रिया होगा जिसने उसकी जिदंगी में बडा असर किया होगा। भिया शिक्षक बिना ज्ञान नही और ज्ञान बिना जीवन कुछ भी नही मुमकिन नहीं है। इन गुरूओं के सम्मान में भियां 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस सालों से मना रिये है । मगर क्या फायदा इन शिक्षकों के सम्मान सिर्फ स्कूलों तक ही सिमित हो रिया है । मगर इस साल शिक्षक दिवस पर आयोजित शिक्षकों के सम्मान की कड़ी ने दिल खुश कर दिया, भिया ये कार्यक्रम जिला पत्रकार संघ ने आयोजित किया । आमतौर पर  ऐसे में स्कूली बच्चों के अलावा अपने गुरूजनों का सम्मान स्कूल में पढ कर निकलने वाले इन शिक्षकों का सम्मान नही कर पाते है और न ही उन्हे अपने आधार स्तंभ याद रहते है।
    भियां झाबुआ में भी एक वरिष्ठ महान कलमकार स्वर्गीय यशवंत घोडावत थे। जिनकी कलम की तूती शहर ही नही वरन पूरे जिले में बोलती थी। उनके स्वर्गवास के बाद उनके शिष्यों ने उनकी कलम के रास्ते पर चलते हुए,उनके मरणों उपरांत भी उनकी कलम टेढी नज़र को जीवित रखते हुए उनके पद चिन्हो पर अपना मार्ग प्रश्स्त कर रहे है । जिले में कलमकारों के कोई गुरू है तो वो घोड़ावत दादा, कईं लोगों ने उनके साथ रहकर कलम चलाना सीखा तो, कई ऐसे भी हैं साथ तो  नहीं रहे लेकिन एकलव्य की तरह उन्हें द्रोणाचार्य मानकर सीखते रहे । घोड़ावत दादा ने ही जिला पत्रकार संघ की नींव रखते हुए गांव खेडों में ऐसे कलमकारों को तराशा जो आज भी उनकी तरह निडर और बेबाक लिखते है । 



    स्वर्गीय यशवंत घोडावत की स्मृति में उनके शिष्यों द्वारा पत्रकार संघ के बैनर तले उन्हीं की याद में शिक्षक दिवस के अवसर पर जिले भर में शिक्षक सम्मान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। भिया नगरीय व शहरी क्षेत्र में तो शिक्षकों का सम्मान तो होता रिया है । लेकिन गांव खेडों में शिक्षकों का सम्मान होना बडी प्रशंसनीय बात है। भियां इस सम्मान में हाल ही में पढ़ा रहे शिक्षकों के अलावा सेवानिवृत शिक्षकों का भी सम्मान किया गया ।
    भियां सम्मान तो भोत ले रिये होते है लेकिन ऐसा कार्यक्रम जिसमें स्वंय का नही वरन अपने उन गुरूजनों का सम्मान जिन्होने हमें इस काबिल बनाया उनका सम्मान बडी प्रशंसनीय बात है। भियां मैं महान कलमकार स्वर्गीय यशवंत घोडावत को नमन करता हूं और जिला पत्रकार संघ के जिलाध्यक्ष संजय भटेवरा और दादा की कलम को सतत जारी रखने वाले दादा मनोज चर्तुवेदी के साथ पूरे पत्रकार संघ के हर बडे छोटे और गांव खेडे के सदस्यों का आभार व्यक्त करता हूं कि उन्होंने अपने गुरू की याद में इतना बडा सम्मानीय कार्यक्रम किया।




    No comments:

    Post a Comment

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY