• Breaking News

    Monday, December 12, 2016

    युवाओ की मेहनत खुद की पीठ थपथपाती कोतवाली पुलिस

     भियां अपने मुंह मियां मिठु बनना कोतवाली पुलिस की ये अब आम बात है। दुसरों के कारनामों पर अपने सितारें चमकान कहां का न्याय है। भियां हम बात कर रिये है दो दिन पेले पकडे गए चोरों की। जिसके लिए आज थाने पर पत्रकारों की बैठक बुलाई गई। जिससे साब जीं और उनके सहायको की  बहादुरी के कारनामें के बारे में बडे बड़े बखान किये जा रहे थे अब ये बखान बडे बड़े  अक्षरों में भले ही छप जाए। लेकिन हकीकत कुछ और भी है जिसे ये पुलिस वाले बताना नहीं चाहते पत्रकारों के सामने भियां साब जीं ने अपने जवानों की बहादुरी के तारीफों के पुल बांध दिए कि किस तरह से हमारे जवानों ने बडी बहादुरी के साथ चोरों को पकड रिये है। लेकिन साबजी आप ये बताना तो भूल गए की असल ने चोरों को किसने धरदबोचा। 
    कोई बात नही साबजी, मैं ही बता दे रिया हुं कि असल में चोरों को किसने पकडा। भियां उस रात  जब ये संदिग्थ चोर शहर में घूम रिये थे और पुलिस के कैच जवान उनके पीछे भाग रिये थे उस समय कुछ युवाओं ने बडी बहादुरी के साथ चोरों का घेराव कर उन्हे धर दबोचा था। उसके बाद पुलिस कर्मियों को सौंपा गया। लेकिन  साब जीं तो अपने मुंह मियां मिटठु बन रहे है। असल बात क्या थी ये तो जरूर बताना था। अगर युवा अपना नाम जनता के सामने नही आने देना चाह रिये थे।तो भी बिना नाम बताए ही उन युवाओ का जिक्र मिडिया के सामने बताना था लेकिन हमारे पुलिस के बड़े साहब तो मिडिया के सवाल के बाद भी इस सवाल को टाल गए और सारा श्रेय स्वयं ही लेने लगे। और जनता को डरपोक बताने लगे  । लेकिन साब जीं आप ने ऐसा करने की बजाया अपनी ही पीठ थपथपा ली। मगर साब जीं आप से भूल गए ये पब्लिक है ये सब जानती है। किसी से कोई बात छुपती नही है। अगर आपके पुलिस जवान इतने बहादुर और मुस्तेद होते तो आज दिनदहाड़े  चंद्रशेखर आजाद मार्ग में चोरी नहीं होती। भियां मेरा काम तो था सही बात जनता के सामने रखना जो में रख दी, बस अब में जा रिया हुं। जल्द ही मिलेंगे। वंदे मातरमं।

    No comments:

    Post a Comment

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY