• Breaking News

    Sunday, December 18, 2016

    रसुखदार के आगे नतमस्तक फोटो छाप मोर्निग क्लब...... कांग्रेसी पेलवान भी हुआ धड़ाम


    लो भियां एक बार फिर आ गिया सभी को मेरा नमस्कार.....  भियां सुबह मोर्निग वाक के लिए मैं भी ठंड  में काॅलेज ग्राउन्ड निकल गिया... सोचा भियां बडे बडे काम कर अखबारों में फोटो छपवाने वाले मार्निग वाक वालों से कुछ सिख आऊं... ताकि भियां मेरी भी कुछ सेहत बन जाए.. तो सुबह सुबह की ठंड में ठिठुरता हुआ जब काॅलेज गिया.. तो देखा किसी शिक्षा संस्थान ने बडा भारी स्टेज बना कर चारों ओर से मैदान को घेर लिया है....भियां बिताने वालों ने बिताया कि संस्थान का रजत जयंती कार्यक्रम हो रिया है जिसके लिए बच्चों से 400-400 रूपए ले रिये है.... और कार्यक्रम का आयोजन कर  रिये है..।  
    भियां रजत जयंती वालों ने तो ग्राऊन्ड घेर लिया... तो मैंने मार्निग वाक करने वालो से पूछ ही लिया ...... भियां आप लोग हर बार मैदान में कार्यक्रम करने वालो का कभी ज्ञापन तो कभी अन्य तरिके से विरोध करते आ रिये है... तो इस बार रसुखदारों के सामने आप क्यों नतमस्तक हो रिये हो....तो भियां क्लब वालो के गले में ये बात फंस कर रे गई... पर भियां एक बात समझ में ये नी आ री। .....  कि ये माॅर्निंग वाक वाले मैदान पर अपनी सेहत बना तो आ रिये ...  मगर उस मैदान की कद्र क्यों  नही कर रिये है... जिससे भियां ऐसा लग रिया है माॅर्निग वाक वाले मैदान में सेहत बनाने नही....... कहीं पर निगाहे और कहीं पर निशाना लगाने आ रिये है... इसलिए इन्हे कोई  फरक नहीं पड रिया है...।
     भियां मगज में ये बात खटकने लगी... आखिर कारण क्या है कि मोर्निग क्लब वाले की आवाज ही नही निकल री है.... तो पता चला भियां इस माॅर्निग क्लब में आयोजनकर्ता का भाई भी शामिल है... और भियां आयोजनकर्ता भी सत्ता समर्थित रसुखदार है...जो अपने स्कूल की रजत जयंती में भाग लेने वाले बच्चों से फिस वसूल कर रिये है.... ऐसे में भियां मार्निग वाक वालों की क्या हिम्मत की रसुखदार आयोजनकर्ता के लिए कलेक्टर से मिले और इस प्रकार का आयोजन नगर के एक मात्र खेल मैदान पर करने से रोके और न ही प्रशासन में इतना दम है .....  इस प्रकार के आयोजन को खेल मैदान पर रोक खिलाडियों में उत्साह पैदा करें.... इसलिए तो लोग के रिये है माॅर्निग वाक करने वाले रसुखदार के आगे नतमस्तक हो रिये है..... और जिन लोगों या संस्था की पकड प्रशासन तक नही होती उनके सामने मार्निग वाक वाले न सिर्फ आवेदन देने पहुंच जाते.... बल्कि भियां आयोजन ही रोक देते....। 

    कांग्रेसी पेलवान भी हुए धराशायी
    भियां ऐसा नही है की इस आयोजन में माॅर्निग वाक वाले फोटो छापों की पोल खुली.... यहां पर कांग्रेसी पेलवान को भी पटखनी पडी है... भियां मैदान खेल का इसलिए आयोजन भी खेल का होना चाईये... और इसी को लेकर एक खेल प्रेमी संस्था खेल का आयोजन कर री है... जिसमें कई सारी टीमें भाग लेने आ री है... इस संस्था में कई पेलवान है जो टक्कर के माने जा रिये है... अगर रसुखदार की जगह कोई ओर कमजोर संस्था यह आयोजन करती तो ये कांग्रेसीे पेलवान उसको छटी का दुूध याद दिला देते और उसे बोरिया बिस्तर समेटना पडता..... लेकिन यहां पर फुटबाल के आयोजनकर्ता पेलवानों को ही छटी का दुध काॅलेज मैदान पर रजत जयंती मना रहे रसूखदार ने याद दिला दिया... और पेलवानों को भी रसूखदार के आगे नतमस्तक होते हुए मैदान में ही परिवर्तन करना पड गिया.....
     वैसे कुछ भी हो लेकिन काॅलेज ग्राउन्ड पर रोज खेलने वाले खिलाडी जो की सही में खेलने आते है... उन्ही ने दम दिखाया और इस मैदान के प्रति वफादारी दिखाते हुए प्रशासन से मांग की उक्त ग्राउन्ड को खेल के लिए ही रहने दे.... न की नौटंकी के लिए...


    तो भियां अब में जा रिया फोटो छाप मार्निग वाक वालों से बस यही कहना चाह रिया हुं कि कहीं पर नगाहें और कहीं पर निशाना लगाने की बजाय अपनी सेहत बनाने पर ध्यान दो। जिस मिटटी में तुम अपनी सेहत बना रिये हो उस मिटटी का जरा सम्मान तो कर लिया करो..... बस अब जा रिया जय राम जी की...... फिर मिलेंगे कुछ कही-अनकहीं बातों के साथ...... नमस्कार...। 

    No comments:

    Post a Comment

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY