• Breaking News

    Wednesday, December 7, 2016

    दौलत के फरमान के डर कर भागा भैया का प्यारा बबलू



                    समय बड़ा बलवान नहीं मनुज बलवान रे भाई.......... भियां यह बात भैया को न जाने कब समझ में आएगी। लेकिन इन दिनों बबलू प्यारे की रणछोड़ दौड़ नगर में चर्चा का विषय बनी हुई है।
    ........ गत दिनों नगर पालिका द्वारा आयोजित पेयजल योजना के शुभारंभ अवसर पर नगर हित में जहाँ पेयजल योजना को सुनहरा बता रही थी......।  तो वहीँ भाजपा ने इस योजना बहिष्कार कर दिया। गली मोहल्ले का हर व्यक्ति को मालूम हैं कि भाजपा दो गुटों में बटी हैं लेकिन अब तीसरा गुट भी सुर्खियों में आने लगा है। ......कौन किसकी बजा रहा है ये समझ से बिल्कुल परे है। राजवाड़ा, राजगढ़ नाका और अब तीसरा गुट भाजपा जिलाध्यक्ष का सामने आने लगा है।
    भियां विगत दिनों रामकृष्ण नगर के आयोजन ने कई वफादारों के चेहरों से नकाब निकल चुका है। जहाँ राजगढ़ नाके का विरोध कर रहे दल बदलू मंच पर  नजर ही नहीं आये। बल्कि पूरे कार्यक्रम मुख्य भूमिका अदा करते दिखाई दे रहे थे। इन दल बदलुओं को देख कर ऐसा लग रहा था कि इन्होंने जिलाध्यक्ष के आईटी  पर जारी अनुशंषा भंग करने के निर्देश की धज्जियां उड़ा दी।
    दौलत के अध्यक्ष बनने पर ऐसे कयास लगाये जा रहे थे कि इन दल बदलुओ के सितारे एक बार फिर चमकेंगे।
    ...... मगर चंद दिनों में ही इन दल बदलुओं द्वारा अपना पाला बदल लिया।
    भियां क्यों भगा दौलत के डर से बबलू.........
    इधर मंच पर  दल बदलू नजर आये। ..... तो दूसरी और भैया की मेहरबानी के चलते भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष पद पर विराजमान हुए बबलू इस पुरे आयोजन में नदारत नजर आये। उधर दबी जुबां से दौलत के निर्देशो की धज्जियां उड़ाने वाले कार्यक्रम में शामिल कार्यकर्ता यह कयास लगाते नजर आये कि दौलत के आदेश का इतना डर की बबलू ने ....... भाई साहब को भी नजर अंदाज कर मैदान छोड़ भाग खड़े हुए।
    .... कार्यकर्ता इतने में भी कहा चुप होने वाले थे  वे यह तक कहने में नहीं चूके कि  नगर पालिका से विटामिन की खुराक लेकर सेहतमंद हो रहे कम से कम इस बात का तो लिहाज रखते।
    .... मैदान छोड़ कर भागे नगर अध्यक्ष के बारे में अब चौराहो पर भी लोग चटखारे लेने लगे है कि आखिर दौलत के डर से क्यों भागा बबलू।
    .......भैया के समर्थक........ बबलू की इस रणछोड़ दौड़ की कारण कासफाई देते नजर आ रहे है....... की ऐसा नहीं है…..... पारिवारिक काम था......इस कारण नहीं आया बबलू।
    तो भियां अब में चलता हूं वन्दे
    मातरम .... मगर अब ये भी सुन लो। अब ये तो बबलू  ही बता सकता है कि  दौलत के डर से क्यों भागा...........।

    No comments:

    Post a Comment

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY