• Breaking News

    Thursday, December 1, 2016

    “कांग्रेस ऐसी करनी कर चलो, जग को होत सुहाय”





    कही-अनकही

    लो भिया अपने मालवा ही नहीं देश प्रदेश व पूरे विश्व की आस्था का सिंहस्थ अमृत कुंभ मेला संपन्न हो ही गया। सिंहस्थ में तमाम परेशानियोंझंझावतों के बाद भी सरकार की मुस्तैदी से सफल रिया। इतिहास तो यही कहता सिंहस्थ के बाद सरकार बदल जाती हैं। ये तो अब बाबा महाकाल सिंहस्थ में आए साधु संतों का आर्शीवाद ही तय करेगा कि सरकार रहेगी या पूर्व  की तरह चली जाएगी।लेकिन सरकार बदले या ना बदले, सरकार का निजाम बदले या ना बदले, पर भिया मंत्रीलोग जरूर बदल गए हैं । हो सकता है कि ये भी अपने मामा का कोई टोटका हो ।  खैर हमें क्या लेना देना पर मन में आई बात तो लिख दिया। हमारा क्या हम तो यूं भी लिख्खड़ है। लिखते आए है लिखते रहे है और लिखते रहेंगे। सिंहस्थ सफल संपन्न हुआ । 
    अब सरकार व विपक्ष घोडाडूंगरी से निपटते ही भियां लोग आने वाले वर्ष में होने वाले स्थानीय निकाय चुनावों के साथ ही अगले विधान सभा चुनाव हेतु अपनी कथनी और करनी” को एक करने में भीड जायेंगे। इसलिए भियां हमने लिखा ऐसी करनी कर चलों जग को होत सुहाय”  । 

    पर भियां अपन तो जो आंख से देखते हैकान से सुनते हैसाफ साफ लिख देते है सरकार की तो छोड़ों उनके कामों पर तो आरोप लग रिये है और लगते रियेंगे। पर जिसकी सत्ता में आने की चाहत है उन्हे अपनी कथनी करनी” में फर्क नही करना चाहिए । आप सब समझ रिये होंगे की मैं क्या लिख रिया हुंक्या बता रिया हुं। फिर भी समझ न आए तो लो भियां मैं साफ साफ लिख दुं। बीते एक दशक से से भी अधिक समय से सत्ता से बाहर कांग्रेस की कथनी और करनी एक होई नी री है। मैं देश-प्रदेश की बात तो नी कर रिया हुं। अपने झाबुआ जिले की बात बता रियां हुं। पिछले कई साल से कांग्रेस आदिवासियों के नाम राजनिती तो कर री है। पर उनका भला नी हो पा रिया है या उनका भला करना चाहती ही नही है। भियां मैं झुठ नी बता रिया हुं। आपको याद हो तो बीते वर्ष चिलचिलाती धूप में कांग्रेस ने मेघनगर औद्योगिक क्षेत्र की जहर उलग रही फैक्ट्रीयों के खिलाफ जीवन बचाओं आंदोलन के नाम जंग छेड कर आंदोलन का बिगुल बजाया था। आंदोलन में कांग्रेस के बडे बडे नेताओं के साथ जिले के नेतोओं ने भी हजारों की संख्या में आए आदिवासियों को लच्छेदार भाषण देकर जहर उगलती फैक्ट्रीयों के खिलाफ खुब आक्रोश पैदा कियाइसका परिणाम भी सामने आया और आदिवासियों ने बाद में फैक्ट्रियों पर पथराव भी कर दिया था ।  पर कांग्रेस जो आंदोलन के समय  कह कर गई थी, वो करना तो दूर उसने आदिवासियों पर दर्ज हुए मुकदमों की ओर मुड कर देखा तक नहीं । तो भिया इसको क्या कहें, इससे तो यही लग रिया है कि कांग्रेस कथनी और करनी में अंतर है 

    अब भी विश्वास नी हो रिया तो याद कर लो जनवरी माह मे हुई जिला सतर्कता एवं निगरानी की समिति की वह बैठक जिसमें क्षेत्रीय सांसद कातिलाल भूरिया ने आदिवासी बाहुल्य जिले में आदिवासियों ने नाम पर हो रही अवैध शराब की तस्करी को लेकर बडा विलाप किया था लेकिन बाद में इस मुददे की और मुड कर देखा तक नही । पर भिया ये जरूर सुनरिये हैं कि रानापुर क्षेत्र  इनकी ही पार्टी के शराब माफिया को गुजरात में अवैध शराब तस्करी के लिए पूर जोर सहयोग दिया जा रहा है। 

    भियां अभी भी नी समझ में आ रिया है तो हमारें पास कई मुददे है जिससे सिर्फ कांग्रेस के बडे नेताओं ने आदिवासियों के नाम पर अपनी निजी रोटियां सेक रिये है। अब में बात कर रिया हुं मुददों की तो होस्टलों में अवैध सप्लाईनिर्माण कार्यो में देरीसरपंचों को अधिकार न मिलनास्वास्थ्य सुविधा न मिलना आदि बातों को लेकर कई कांग्रेस द्वारा प्रेस नोट जारी किए लेकिन किया कुछ नही। 

    अरे भियां सबसे ज्वलंत मुददा तो नेशनल हाईवे 59 का बता रिया हुं कि हाईवे निर्माण की स्वीकृती मिलने की खबर सुनते ही और निर्माण कार्य का टेंडर निकलने से पहले ही भियां कांग्रेस ने अपनी वाहवाही लुटने के फुलमाल में धरना प्रदर्शन कर दिया। भियां हमारें सूत्र तो ये भी बताते है कि ये धरना वाहवाही लुटने के साथ अपने उस साथ ठेकेदार को नेशनल हाईवे 59 का ठेका दिलवाना है जो जिले में कांग्रेस राज में दशकों से सडकों का निर्माण करते आया है । जहां जहां इस ठेकेदार ने निर्माण किया वहां सड़कें कम और गढडे ज्यादा नजर आए है । जिससे जिले की जनता वाकिफ है । भिया क्षेत्र की जनता की फिकर है,ये तो हम तभी मानेंगे जब आप अपने इस ठेकेदार के कामों में के खिलाफ किसी दिन धरने पर बैंठेगे, लेकिन ऐसा होगा इसकी उम्मीद कम ही है । नेशनल 59 वाले मामले पर तो बीजेपी के नंदू भैया ने मंच से सांसद कांतिलाल भूरिया को श्रेय लेने उस्ताद हैं कह के मंच से कांग्रेस की किरकिरी कर दी थी । 

    तो भिया सार ये है कि खाली फोकट की बात मत करो, दिखावा मत करो, थोड़ा लोगों के मन को भाय ऐसा काम करो, क्योंकि ये पब्लिक है सब जानती भी है और समझती है, सर का ताज दिला दिया तो क्या, ये ताज वापस छिन भी सकती है, इसलिए अब भी समय भिया ये दोगलापन नी चलेगा । अपने लोगों के खिलाफ भी भिया आवाज उठाओगे तो जनता सलाम करेगी । अपने तो यही कहेंगे कि  कांग्रेस ऐसी करनी कर चले जग को होत सुहाय

    No comments:

    Post a Comment

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY