• Breaking News

    Friday, January 27, 2017

    शराब माफियाओं के खिलाफ भाबर ने खोला मोर्चा, तो भूरिया ने खोली पुरी पोल


    जिले  में अवैध शराब की तस्करी होना आम बात है, आबकारी और माफियाओं की ऐसी सांठगाठ है की अगर शराब का ट्रक पकडा भी जाता है तो इन माफियाओं के पास झट से परमीट भी आ जाता है, चाहे अवैध शराब से भरा वाहन या तो निर्धारित स्थान से कहीं ओर या फिर कुछ दिनों पहले पकडी हो, पकडने के बाद ही इन अवैध वाहनों के पास शराब का परमीट आ जाता है, ये बात कोई खास नही है लेकिन थांदला में पकडी गई अवैध शराब जो बिना परमीट की थी, उसे माफिया और आबकारी की सांठगाठ के चलते किस तरह से वैध साबित कर दिया इस मुददे को पहली बार योजना समिति की बैठक में प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग के सामने माफियाओ को विधायकों द्वारा आडे हाथों लिया और आरोप लगाते हुए कहा आबकारी विभाग स्वयं अवैध शराब को वैध बना देते है और जब पुलिस अवैध शराब को पकडती है तो इस अवैध शराब को वैध दस्तावेज बनाकर पुलिस के सामने प्रस्तुत करती है। 
    कांग्रेस लाख अवैध शराब तस्करी को लेकर विरोध करे लेकिन केन्द्र और प्रदेश में भाजपा सरकार होने की वजह से उनकी कोई नही सुनता। लेकिन इस बार भाजपा विधायकों के विरोध करने पर एक बार फिर क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया ने भी क्षेत्र में अवैध शराब की तस्करी के साथ साथ, अवैध रूप से बनाई जा रही शराब के बारे में माफियाओं की पोल खोल डाली। थांदला विधायक ने मोर्चा खोलते हुए, प्रभारी मंत्री के सामने आबकारी अधिकारी से प्रश्न कर लिया कि शराब का ट्रक पुलिस पकडती है और  बाद में आबकारी अधिकारी अपनी ही गाडी में टीपी परमीट लेकर आ जाते है। थांदला में जिस तरह आबकारी विभाग द्वारा कुछ समय में ही पुलिस द्वारा पकडी गई अवैध शराब को वैध बना डाला। इस बात पर प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग ने भी अवैध शराब बिक्री पर रोक लगाने की बात कही। 
    गुजरात राज्य में शराब बंदी आदिवासी बाहुल्य जिला झाबुआ में माफियाओं के लिए वरदान सी साबित हो गई। हरीयाणा एवं महाराष्ट्र के लेबल लगी अवैध शराब द्वारा गुजरात सीमा से सटे इस जिले से भारी मात्रा में खेपी जा रही है।
    क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया ने भी आबकारी विभाग की पोल खोलते हुए कहा कि आबकारी माफियाओं को संरक्षण देती आ रही है। जिले में भारी मात्रा में अवैध रूप से स्प्रीट लाकर अवैध शराब बनाई जा रही है और गुजरात राज्य में खेपी जा रही है।  जिसकी पुरी सुची उनके पास है। लेकिन सुचना देने के बाद भी आबकारी किसी माफियाओं पर कार्रवाई नही कर पाई।  अगर आबकारी विभाग किसी  पर कार्रवाई करती भी है ये लोग वे होते है जो अपने पारिवारीक कार्यो के लिए एक आध पेटी शराब लेकर जाते है। 

    No comments:

    Post a Comment

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY