• Breaking News

    Friday, April 14, 2017

    सरकार जनता की..... पुलिस और आबकारी शराब माफियाओं की.....

            लो भियां मैं फिर आ गिया.... कुछ कहीं-अनकहीं बातों के साथ.... भियां कैसा क्या चल रिया है.... सब ठिक ठाक तो है न.... भियां आप सोच रिये होंगे सब ठिक ठाक तो हैं.... तो ये बार बार क्यों पूछ रिया हैं... मैं इसलिए पुछ रिया हुं की हमारा जिला ठिक ठाक नजर नही आ रिया है... भियां अब मैं आपकों बधाई... या दुख संवेदना व्यक्त करूं.... क्योंकि हमारें जिले को एक और तमगा मिल गिया है.... अवैध शराब तस्करी का.... अवैध शराब तस्करी के लिए हमारे जिले का नाम प्रदेश ही नही... देश में भी नाम रोशन हो रिया है... और प्रदेश और देश में हमारे जिले का नाम रोशन करने वाला है हमारा प्रशासनिक अमला... जो नोटो के सामने नतमस्तक. बैठा नजर आ रिया है...। 
           भियां बुधवार को समाधान आॅनलाईन के दौरान हमारे प्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह चौहान... ने कलेक्टर और प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देशित किया था.... कि शराब के अवैध विक्रय प्रकरणों में कठोरतम कार्रवाई की जाए। मुखिया ने तो स्पष्ट कहा था की ये सरकार जनता की है.... शराब विक्रेताओं की नही... शराब विक्रेताओ से जनता को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो.... लेकिन प्रदेश के मुखिया के निर्देशो के बाद भी प्रशासनिक अमले के कानों में जूं तक नही रेंगी....। रैंगेंगी भी तो कैसे.... शराब माफिया के सामने खाकी नतमस्तक जो है.... इसलिए तो हमारेे जिले का नाम धुमिल हो रिया है। 
            भियां हरियाणा और राजस्थान की अवैध शराब जिले की बोर्डर से सटे स्थानों से बडी मात्रा में गुजरात राज्य में खेपी जा रही है... ऐसे में आबकारी और पुलिस विभाग ऐसे बडे माफियाओं पर कार्रवाई करने के 200 व 300 रूपए की शराब पकड अपने कार्य की इतिश्री कर देते है। भियां पुलिस विभाग से अगर अवैध शराब के बारे में चर्चा भी करेंगे तो... विभाग से ये ही जवाब मिलेगा.... ये काम हमारा नही आबकारी विभाग का है। भियां इन इतिश्रीयों से तो ऐसा लग रिया है की आबकारी और पुलिस विभाग जनता की नही शराब माफियाओं की रक्षक बन बैठी है। 

            भियां अगर ये दोनों विभाग कांग्रेस द्वारा हर बैठक में समस्त अधिकारियों के समक्ष अवैध शराब तस्करी के मुददे के उठाते हुए... दो बडे शराब माफिया अलकेश और कमलेश का नाम लेती आ री है.... उस पर ही कार्रवाई कर दे... शराब तस्करी पर काफी अंकुश लग सकता है... और दोनों विभाग जिले की छवि धुमिल होने से बचा सकते है... अब भियां आप पुछोगे के अलकेश और कमलेश कौन है?... तो भियां ये तो मुझे नही पता... सुना है की ये दो जिले के सबसे बडे शराब माफिया है... और ये भी सुना है हरियाणा की शराब ये ही ला रिये है... और जिले के कई स्थानों पर इनके अवैध शराब निर्माण के अडडे भी है... बाकि तो कांग्रेस ने भरी सभा में इन दोनों का नाम अवैध शराब तस्करी में लिया है...। 

            भियां गुजरात राज्य में अवैध शराब प्रत्येक दिन बडी मात्रा में खेपी जा री है... और उन मार्गो से जहां दोनों विभाग बडी आसानी से अवैध शराब के वाहनों को पकड सकते है... भियां बदनावर मार्ग से 5 ट्रक अवैध शराब के निकल रिये है... जिनका एक ही टीपी परमीट होता है... बदनावर मार्ग से होते हुए सारंगी... सारंगी से या तो सिधे वटठा होते हुए... छाकलिया... या फिर सारगी से होते हुए मेघनगर... मेघनगर से मांडली... मांडली से गुजरात  या फिर वटठा से गुजरात... खेपी जा री है.... अगर बीच में कोई ट्रक पकडा भी जाता है तो... जो एक टीपी परमीट बना है... कुछ समय बाद पेश कर दिया जाता... तो भियां अब आप ही सोचिए इस तरह से बैखौफ होकर माफिया... अवैध शराब की तस्करी कर रिये है तो क्या आबकारी और पुलिस विभाग को इस बारे में जानकारी नही है क्या....। भियां इससे साफ स्पष्ट हो रिया है कि दोनो विभाग शराब माफियाओं के सामने नतमस्तक है... और नोटों की हरियाली में मौज कर रिये है। 
    अब जा रिया.... आगे की जानकारी बाद में दुंगा... फिर मिलेगे... जय माता दी...।

    No comments:

    Post a Comment

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY