• Breaking News

    Friday, May 12, 2017

    50 वर्षीय .... प्रेमी के साथ मिलकर की पत्नी ने पति की हत्या


    कहते है प्यार अंधा होता है और इसी अंधे प्यार का शिकार हुआ तुफान... जिसे अपनी जान देकर इस अधें प्रेम की किमत चुकाना पडी... तुफानसिंह भाभर, उम्र 30 वर्ष जो नवागांव का निवासी होकर झाबुआ के टेंट व्यवसायी के यहां पर काम करता था। लेकिन 7 मई की सुबह 8 बजे झाबुआ पुलिस को तुफान के भाई भूरा पिता रायचंद भाभर ने सुचना दी की उसके भाई तुफान का शव नवागांव डुगरा के जंगल में पडा है। किसी ने उसकी हत्या कर दी है। 
    केतवाली प्रभारी आर.सी. भास्करें को जैसे इस संबंध में सुचना मिली... उन्होने तुरंत इस संबंध में पुलिस अधीक्षक महेशचंद जैन एवं एसडीओपी एस.आर परिहार को सुचना दी। जिसके पश्चात पुलिस अधीक्षक पुलिस टीम के साथ घटना स्थल पहुंच... घटना स्थल का निरिक्षण किया। जिसके पश्चात शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय लाया गया। प्रथम द्रष्टया पुलिस की नजर में यह केस हत्या का नजर आने लगा था। इसी को देखते हुए पुलिस अधीक्षक के मामले को जल्द सुलझाने के निर्देश दिए। 
    पोस्टमार्टम रिर्पोट से साफ हो गया था की सीने पर लटठ या किसी भारी वस्ते की चोट होने से तुफानसिंह की मौत हुई... पुलिस ने अपने मुखबीत तंत्र मजबुत किए... तो पता चला कि मृतक तुफानसिंह की पत्नि रेमुबाई  उम्र 35 वर्ष विगत दो वर्षो से गुजरात के दाहोद के समीप खंगेला थाना कतवारा में एक तांत्रीक उर्फ बडवे मथुरा पिता मानसिंह मेडा उम्र 50 वर्ष के यहां पेट में हो रहंे दर्द के उपचार करवाने के लिए जाती रहती थी। इसी दौरान मथुरा और रेमूबाई एक दुसरे से प्रेम करने लगे और उसके बाद अकसर दोनों छुपछुप कर मिलने लगे। अब तुफान उसकी पत्नी और तांत्रीक को उनके प्रेम में खटकने लगा था। जिसके चलते दोनों तुफान को रास्ते से हटाना चाहते थे और आखिर का दोनों मिल कर उसे रास्ते से हटा ही दिया। 
    इस अंधे कत्ल को पुलिस अधीक्षक ने चुनौती पूर्ण लिया और महज 4 दिनों में इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझा ली। पुछताछ के दौरान पुलिस को तुफान के बच्चों ने बताया की उसकी मां का पिछले तीन दिनों से मोबाईल बंद है। जिसके बाद पुलिस ने तुफान की पत्नी की काॅल डिटेल निकाली जिसमें तांत्रीक और रेमूबाई का लम्बी बातचीत करना पाया गया। इसी आधार पर पुलिस ने मथुरा को धरदाबोच तो इस अंधे कत्ल का पर्दाफाश हो गया। मथुरा ने अपने एक और साथी गौरचंद व तुफान की पत्नी रेमुबाई को इस कत्ल में शामिल होना बताया। पुलिस ने तीनों को अपनी गिरफत में लेकर तुफान की पत्नि रेमुबाई, तांत्रीक मथुरा व उसका साथी गौरचंद पर तुफानसिंह की हत्या, हत्या का षडयंत्र रचने के लिए भादवी की धारा 120 वी में प्रकरण दर्ज कर लिया है। 
    पुलिस की गिरफत में आये आरोपियों ने बताया क 6 मई को योजना अनुसार तुफानसिंह की पत्नि ने रात को 9 बजें तुफानसिंह को फोल लगाकर कहा की तांत्रीक उर्फ बडवा घर आ रहा है... उसे लेकर आओ.... पत्नि की बात सुन कर तुफानसिंह बडवे को लेने चल दिया। लेकिन उसे क्या पता था कि योजना के अनुसार पहले से ही जंगल में घात लगाकर बैठा तांत्रीक मथुरा और उसका साथी गौरचंद ने उस पर हमला कर दिया और लटठ से पीट पीट कर उसकी हत्या कर दी। हत्या को एक्सीडेंट का रूप देेने के लिए तुफानसिंह के शव पर मोटरसाइकिल रख दी गई ताकि किसी को हत्या का शक न हो और सब उसे एक्सीडेंट ही समझे। 

    तुफानसिंह झाबुआ के टेंट व्यवसायी के यहां पर ईमानदारी से सारे काम करता था और उसकी हत्या की खबर के बाद टेंट व्वसायियों ने भी मांग की थी की तुफानसिंह की हत्या का जल्द से जल्द पर्दाफाश किया जाए ओर पुलिस ने महज चार दियों में तुफानसिंह की हत्या की गुत्थी सुलझा ली। पुलिस अधीक्षक के बेहतर मार्गदर्शन एवं महज चार दिनों में हत्या के खुल्लासे को लेकर टेंट व्यवसायियों ने पुलिस टीम की सराहना करते हुए अम्बिका टेंट हाउस के संचालक नीरज राठौर की और से े 5000 हजार रुपए  का पुरस्कार  पुलिस टीम को दिया गया। 

    No comments:

    Post a Comment

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY