• Breaking News

    Sunday, June 18, 2017

    हाथीपावा से गायब हुए फोटो छाप व्यापारी.... पर्यावरण वीद्.....नारी शक्ति और खबर नवीश


    सबकों मेरा नमस्कार..... भियां प्रति रविवार को हाथीपावा पर हो रे पर्यावरण के काम को लेकर मेरी भी उत्सुकता जागी.... सुबह 6 बजे उठा और मैं भी चला गिया.... की चलो अपन भी दो चार तगारी गारा डालेंगे और फेसबुक पर लाईव दिख रिये होंगे.... और सकता है भियां साहब के साथ तगारी तोकते फोटो पेपर में आ जाये... या फिर सोशल मीडिया में तो आ ही सकता है.... और कोई नही डालेगा तो साहब के साथ सेल्फी खींच कर... मैं खुद ही डाल दुंगा.... इन सपनों को संजोये  हुए मैं प्रसन्न मन से हाथीपावा पर पहुंच गिया...। 
    लेकिन भियां वहां पहुंचते ही सपना टुट गिया... महज चार आदमी पर्यावरण के प्रति जगरूक दिखाई दे रिये थे..... मैंने सोचा शायद साहब लोग देर से आयेंगे.... मगर भियां बाद में पता चल गिया कि साहब लोग नही आयेंगे और ना ही प्र्यावरण को लेकर ज्ञान पेलने वाले समाजसेवी.... पर्यावरण प्रेमी साहब.... पर्यावरण प्रेमी समाजसेवी संस्थान.... नारी शक्ति और सबसे अहम और पर्यावरण के प्रति सबसे जागरूक व्यापारी संघ और फेसबुक लाईव पर्यावरण के प्रति जगरूकता फैलाने वाले के साथ.... फोटो छाप खबर नवीश..... सब के सब इस इस हाथीपावा से गायब हो गिये।
    मन में विचार आ गिया आखिर ऐसा क्या हुआ की अचानक पर्यावरण के प्रति उमडा प्रेम आखिर क्यों गायब हो गिया... क्या हाथीपावा एक बार फिर अवार्ड प्राप्ति और फोटो छापों की भेंट चढ गिया.... या फिर मन में विचार आ गिया हो सकता है कोई बडी घटना हो गयी हो.... और समाजसेवी.... नारी शक्ति से लेकर समाजसेवी व्यापारी और फोटो छाप खबर नवीश उस घटना में पहुचे हो... तो भियां मैंने इस बात की तफतीश की तो हकीकत का पता चल गिया... ऐसा कुछ नही हुआ है..... मामला कुछ दुसरा ही है... तो हमने खबर निकाली तो पता चला की पर्यावरण प्रेमी के रूप में प्रति रविवार को हाथीपावा पर उमडने वाला पर्यावरण प्रेम.... महज साहब की चापलुसी और फोटो प्रेम के अलावा कुछ नही था.... और इस फोटो प्रेम चापलुसी की हवा निकाली... जिले के कलेक्टर आशीष ने जो फोटो छाप प्र्यावरण से.... पर्यावरण सुधारने की बजाय.... हाथीपावा को हरा-भरा करना चाहते है.... और इसके लिए उन्होने सभी फोओ छापों के सपनों पर पानी फेरते हुए.... ऐसी योजना बनायी की फोटो छाप रविवार को हाथीपावा के आस-पास नत दिखाई नही दिये....। 
    धन्यवाद कलेकटर साहब
    फोटो छापों.... पर्यावरण वीदों और नारी शक्ति से हाथीपावा को आजाद करने के लिए निश्चित कलेक्टर साहब धन्यवाद के पात्र है.... और निश्चित है भले ही उनका फेसबुक पर लाईव नही होगा.... और ना ही सोशल मीडिया पर उनके फोटो होंगे.... लेकिन हाथीपावा जिले के इस कलेक्टर को निश्चित ही धन्यवाद देगा की उन्होने फोटो छाप इन..... पर्यावरण वीदों से उसे मुक्ति दिला.... कर सही रूप से हाथीपावा को हरा-भरा करने का प्रयास किया..... आप का पीतृ पर्वत बनाने की कोशिश ही इस हाथीपावा हरा भरा कर सकता है....। न की सोशल मीडिया पर लाईव करने वाले और फोटो छाप समाजसेवी, न ही फोटो नारी शक्ति और न ही चापलुस और  फोटो छाप खबर नवीश के कारण......।
     इसलिए निश्चित है कि हम फोटो छापों के निशाने पर होगे.... लेकिन आपकों भी सलाह तो यहीं देंगे कि हाथीपावा को हरा करने के लिए आपकी योजना पर वास्तविक रूप से अमल करे.... न की फोटो छापी कर..... तो ही जिले की शान यह हाथीपावा आपकों दिल से हुआ देंगा...क्यांेकि अभी तक तो हाथीपावा नोट उपजनो की मशीन के रूप मंे काम आ रिया था.....। 
    तो भिया अब मै चलता हूँ ..... मगर खबर नवीशों को एक बात बता दुं..... फोटो छापी और चापलुसी.... से बिरादरी को क्यों बदनाम कर रिये हो.... इतनी चापलुसी अच्छी नही.... हंसी का पात्र मत बनो.... अब जा रिया..... भारत माता की जय...।  


    No comments:

    Post a Comment

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY