• Breaking News

    Saturday, July 15, 2017

    आज होगी सर्वार्थ सिद्धीदायक महा मांगलिक ...... चातुर्मास में सिद्धी तप एवं तप आराधना का दौर जारी। ......... क्रोध , मान, ,माया लोभ को शांत करने का उपाय है धर्म-मुनि रजतचन्द्रविजय जी


    झाबुआ । स्थानीय श्रीऋषभदेव बावन जिनालय में पूज्य आचार्य देवेश श्री ऋषभचन्द्रसूरीजी मसा का चातुर्मास  के अन्तर्गत धर्म आराधना एवं तपोउपासना का क्रम जोर शोर से चल रहा है । श्रावक श्राविकायें आचार्य श्री के चातुर्मास के अन्तर्गत  उनके सानिध्य में जप तप मे लीन बने हुए है । प्रतिदिन सैकडो की संख्या में श्रावक श्राविकाओं  द्वारा उपवास,एकासने, आमील आचार्य श्री से पचकान ग्रहण किये जारहे है । 44 दिवसीय सिद्धीतप की आराधना की   8 कडी में पहली कडी की पूर्णाहूति आज संपन्न हुई । सभी तपस्वियों के बियासने का लाभ मनोजकुमार जैन मनोकामना परिवार द्वारा लिया गया । पूज्य मुनिराज रजतचन्द्रविजय मसा की प्रेरणा से समाज एवं नगर के कई युवावर्ग द्वारा धर्म आराधना की जारही है । प्रवचन के पूर्व  मुनिराज का गुरू वंदन श्री संघ अध्यक्ष धर्मचन्द्र मेहता द्वारा गुरूवंदन की विधि करवाई ।
    आज होगी सर्वार्थ प्रदाता महामंागलिक
    चमत्कारिक महामांगलिक, सर्वसिद्धीदायक महा मांगलिक आज , गच्छाधिपति आचाय्र देवेश श्रीऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी मसा के द्वारा अपनी विशिष्ठ साधना एवं जाप के पश्चात आज रविवार को विजय मुहुर्त में सर्व सिद्धिदायक, कष्ट निवारक मनावंाछित पूर्ण करने वाली महामागलिक अपने मुखारबिन्द से प्रदान करेगें । इसके पूर्व प्रातः 8 बजे से बावन जिनालय पर  नवकारसी के आयोजन के पश्चात प्रातः 9 बजे बावन जिनालय चतुर्विद संघ के साथ आचार्य भगवंत प्रथम महामांगलिक के लाभार्थी कमलेशकुमार सुजानमल कोठारी के निवास स्थान पर पहूंच कर आचार्य देवेश द्वारा  पगलिया जी किये जावेगें एवं वहां से प्रातः 10 बजे आचार्य श्री महामांगलिक के लिये शोभायात्रा के रूप में महामंागलिक स्थल स्थल शहनाई गार्डन पर पहूंचेगें । महामांगलिक के मुख्य अतिथि विजेश लुणावत, प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा रहेगें । प्रातः 11 बजे से पारस चैनल पर  महामांगलिक सीधा प्रसारण होगा ।
    धर्म से ही सब कुछ प्राप्त होता है-
    खचाखच भरे पौषधशाला के प्रवचन हाल में श्रावक श्राविकाओं  को अपने प्रवचन में  धर्म बिन्दू ग्रंथ पर धारा प्रवाह प्रवचन चल रहा हे । इस अवसर पर युवा प्रवचनकार मुनिराज पूज्य श्री रजतचन्द्र विजय जी मसा ने ग्रंथ की विशेष5ा बताते हुए कहा कि इस ग्रंथ के कर्ता हरिभद्रसूरीजी मसा है । संस्कृत भाषा में लिखे इस ग्रंथ की टीका मुनिचन्द्रसुरीजी ने की । यह ग्रंथ अपनी लघुता बताते हुए कहते है कि मैने इसव ग्रंथ में अपना कुछभी नही रखा है, ये तो श्रुतसागर में से कुछ रत्न लेकर बनाया गया है । उन्होने आगे कहा कि धर्म से सब कुछ प्राप्त होता है, धर्म से अंतर वैभव एवं बाह्य वैभव दोनों मिलते है । धर्म से कषाय विषय मिटते है । का्रेध, मान, ,माया लोभ को शांत करने का उपाय है धर्म श्रवण । आप निरंतर धर्म सुनिये आपमें समता एवं धैर्यता आकर ही रहेगी । मुनि श्री ने उदाहरण के माध्यम से कहा कि भतिजे ने शत्रुंजय का संघ निकाला,  संघ में शामील काका जो बहुत का्रेधी थे भी साथ में  थे । दादा के दरबार में अचानक उन्होने कभी का्रेध नही करूंगा ऐंसा संकल्प लिया । घर पहूंचने पर  भतीजे से परीक्षा ली और काका विविध परीक्षा में पास हुए । समता भाव को खोया नही तो यह प्रभाव है । धर्मस्थान में सकल्प लेने की बात कहते हुए कहा कि धर्म से बाह्य संपदा भी मिलती हे । जेसे शालीभद्र  ने पूर्व में सुपात्र दान दिया जिससे उसे शालीभद्र के जीवन में अपार धन बैभव प्राप्त हुआ । धर्मबिन्दू ग्रंथ कहता है कि धर्म करों, धर्म सारी इच्छाये पूर्ण करता हे । मुनिश्री ने नल दमयंति का रोचक पारिवारिक तत्व समझाते हुए संदर सटीक वर्णन किया । जिसे खचाखच भरे सभागृह में सभी ने ध्यान पूवर्क सुना ।
    श्री संघ के  युवा रिंकू रूनवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि चातुर्मास  में प्रतिदिन ओजस्वी प्रवचन सुनन के लिये श्रावक श्राविकाओं का तांता लग रहा है । सिद्धीतप की तपस्या का एक कीर्तिमान बनने जारहा है । मालवांचल का बीग फेस्टीवल बनने जारहा है । झाबुआ का चातुर्मास, मुनिराज रजतचन्द्रविजय जी मसा निरन्तर सिद्धीतप, नवकार मंत्र तप अएवं अट्ठम तप की प्रेरणा प्रदान कर रहे है । धर्म के तत्व को समझना ही होगा । धर्म के छोटे से छोटे बिन्दु ही हमारे जीवन के धर्म तत्व बिन्दू महासागर बनेगें  हर कार्य सुगमता से हो जायें यह सब धर्म से ही संभव है  । धर्म से हर वस्तु मिल जाती है पर धर्म में हमारा पुरूषार्थ मजुबत होना चाहिये ।
    आचार्य श्री के दर्षन वंदन के लिये भक्तों का लगा तांता
    पूज्य आचार्य श्री ऋषभचन्द्रसूरीजी मसा के दर्शन वंदन के लिये झाबुआ नगर के अलावा राजगढ, जावरा,टांडा, नीमच, बंबई, मंदसौर, सिरोही राजस्थान एवं मारवाडा के कइ्र श्री संघ के गुरूभक्तो ं का प्रतिदिन आगमन हो रहा है । नीमच नपा अध्यक्ष राकेश सकलेचा एवं जैन श्वेतांबर युवा मंच के  प्रदेश अध्यक्ष शोभित जैन का लाभार्थी परिवार हेमेन्द्र लोकेन्द्र बाबले परिवार एवं  चातुर्मास समिति के अभय धारीवाल, मनोहर मोदी, संतोष नाकोडा, एवं श्री संघ के सुभाष कोठारी, नरेन्द्र पगारिया आदि ने शाल श्रीफल से बहुमान किया। बाहर से पधारे अतिथि का स्वागत एवं काकर्यक्रम का संचालन संजय काठी ने किया ।


    No comments:

    Post a Comment

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY