• Breaking News

    Monday, September 18, 2017

    विशाल चल समारोह ने इस अंचल के साथ ही पूरे प्रदेश एवं राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई ..... 7 राज्यों के कलाकार देगें चल समारोह मे अपनी प्रस्तुति


    झाबुआ । राजगढ नाका मित्र मंडल द्वारा अपना सांस्कृतिक महत्व प्रतिपादित कर चुके विशाल चल समारोह ने इस अंचल के साथ ही पूरे प्रदेश एवं राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई है  इसके  लिये  आयोजक साधुवाद के पात्र है। 28 वें विशाल चल समारोह के आयोजन को लेकर जो सिस्टेमेटिक काम किया जारहा है वह अभिनंदनीय है। राजगढ नाका पर यदि जगह की समस्या हो तो आगामी वर्ष से इस आयोजन को पुलिस लाईन के विशाल गा्रंउड पर किया जावे तो और अधिक उपयुक्त रहेगा । झाबुआ के राजा के बारे में भी मैने सुझाव दिया है  कि अगले वर्ष से वे पुलिस लाइ्रन में गणेशजी की प्रतिमा स्थापित कर सकते है ।उक्त विचार पुलिस अधीक्षक महेशचन्द्र जैन ने श्री नवदुर्गा महोत्सव समिति राजगढ नाका द्वाराप विशाल चल समारोह 21 सितम्बर के परिप्रेक्ष्य में आयोजित मीडिया एवं नगर के समाजसेवियों की वृहद बैठक में व्यक्त किये  ।

    आयोजित वृदि बैठक एवं मीडिया कर्मियों के सम्मान समारोह के अवसर पर विधायक शांतिलाल बिलवाल, शैलेष दुबे, डा.केके त्रिवेदी, श्रीमती बंसती बारिया, मुकेश अजनार मंचासीन थे । कार्यक्रम का संचालन श्रीमती किरण शर्मा ने करते हुए  सांस्कृतिक आयोजन के बारे में नगर के लोगों द्वोरा दिये जारहे सहयोग की प्रसंशा करते हुए मातृ शक्ति का इस आयोजन की सफलता में सहयोग के बारे में बताया ।
    इस अवसर पर संजय शाह द्वारा विशाल चल समारोह की रूपरेखा का जिक्र करते हुए कहा कि  झाबुआ की धर्मधरा पर लघु भारत करा निर्माण होना हमारे लिये गौरव का क्षण है । इस विशाल चल समारोह में 7 राज्यों के 8 नृत्य दल एवं 2 सेलिब्रिटी आकर्षण का केन्द्र रहेगें । उन्होने बताया कि तेंलागाना के दल का ढोली नृत्य, सिक्कीम के दल द्वारा नेपाल की सांस्कृतिक झांकी तमंग नृत्य,  सुरेन्द्र नगर गुजरात के संयम परिवार की मनमोहक प्रस्तुति, उडीसा में नोखाई जोहर के अवसर पर किये जाने वाला डालखई नृत्य, कलर्स टीवी की प्रसिद्ध अभिनेत्री सिरमनकी भूमिका निभाने वाली दीपीका कक्कड, असम का लोकप्रिय राजभोंगशी  की मनमोहक प्रस्तुति,शिवजी की आरात, कानवन का प्रसिद्ध बेंड, आदिवावसी गायक सूरज6 पटेल व गुजराती फिल्मो की प्रसिद्ध अभिनेत्री यशस्वी जानू पटेल एवं आर्केस्ट्रा, झामरू गीत के फेम गायक प्रवीण चैबे मुख्य रूप् से आकर्षण का केन्द्र रहेगें ।
    इस अवसर पर संबोधित करते हुए राजगढ नाका मित्र मंडल के शैलेष दुबे ने कहा  कि इस आयोजन को लेकर पूरे नगर के सामाजिक संगठन,मीडिया एवंज न सामान्य काप भरपुर सहयोग मिलता रहा है । 1990 से प्रारंभ हुएविशाल चल समारोह झाबुआ की पहचान बन चुका है और सभी लोगों का इसको सफल बनाने में भरपुर सहयोग मिला है ।श्री दुबे ने जन्माष्टमी के दिन से विशाल चल समारोह के आयोजन को लेकर कार्यालय के शुभारंभ के बाद से नगर के करीब 200 गणेश मंडलो के सम्मान समारोह, पूज्य आचार्य देवेश ऋषभचन्द्रसूरीजी मसा के सानिध्य में  हुई विशाल बैठक,में 5 श्रेष्ठ प्रतिभाओं का सम्मान एवं पण्डित हरिप्रसाद अग्निहौत्री की स्मृति में संस्था को दिये गये पुरस्कार, अचलं 200 गा्रमों में प्रचार रथ को बिदा करने आदि का जिक्र करते हुए बताया कि आज मंगलवार को 1000 से अधिक युवाओं की रन फार नवरात्री के नाम से विशाल निवेदन यात्रा निकाली जावेगी जिसमें नगरवासियों को सतर्कता के साथ ही विभिन्न बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में बताया । उन्होने बताया कि 21 सितंबर को 11-30 बजे एमटू से विशाल चल समारोह प्रारंभ्रा होकर नगर में तीन स्थानो बस स्टेंड , राजवाडा चैक एवं राजगढ नाके पर इन दलों द्वारा प्रस्तुति दी जावेगी । श्री दुबे ने बताया कि नगरपालिका की ओर से आगन्तुक कलाकारों का नागरिक सम्मान भी किया जावेगा । श्री दुबे ने मित्र. मंडल के कलाकारों की महेनत का जिक्र करते हुए मीडिया से उनकी महेनत की हौसला अफजाई के लिये सकारात्मक सहयोग देते रहने का आग्रह किया । श्री दुबे ने बताया कि  कलेक्टर की अनुसंशा पर कमिश्नर इन्दौर ने 21 सितम्बर को जिले भर मे स्थानीय अवकाश घोषित  कर दिया है जिससे सभी लोग इस विशाल चल समारोह का आनन्द ले सकेगें ।इस अवसर पर मीडिया जगत की ओर से  नंगर एवं अंचल के पत्रकारों, इलेक्ट्रानिक चैनलों, पत्रकारों को स्मृति चिन्ह देकर उनका सम्मान भी किया गया ।
    इस अवसर पर इतिहासविद डा. केके त्रिवेदी ने भी अपने प्रेरक उदबोधन में इस आयोजन की भूरी भूरी प्रसंशा करते हुए कहा कि इस चल समारोह से भव्य दीव्य शक्ति का संचार हुआ है । आदिवासी पिछडा क्षेत्र होने के बाद भी भारत के विभिन्न क्षेत्रों के्र कलाकारों द्वारा उनकी संस्कृति के दर्शन हमे यहां होते है । उन्होने कहा कि उज्जेन की तरह ही झाबुआ में भी विशाल आयोजन से सुंदर सन्देश पूरे देश को पहूंचता है । उन्होने यहां के मीडिया की प्रसंशा करते हुए कहा कि हर क्षेत्र में यहां की मीडिया ने अग्रणी भूमिका निभाई है ।राजगढ नाका ने एक प्रतिक के माध्यम से नगर के हर वर्ग की प्रसंशा अर्जित की है ।झाबुआ की संस्कृति का जिक्र करते हुए उनहोने कहा कि इस अंचल के आदिवासी कलाकारों की गीत आज देश के महानगरों तक में गाये जाते है ।यहां के समाजसेवियों द्वारा चल समारोह के दौरान की जाने वाली जल पानी आदि की व्यवस्था निसन्देह अनुकरणीय एवं प्रसंशनीय है  ।
    उक्त वृहद बैठक के आयोजन में दिलीप घोटकर, निर्मल जैन एवं तेज नारायण द्विवेदी की सरहानीय भूमिका रही । नगर के विभिन्न समाज सेवियों को किरण शर्मा एवं सुषमा दुबे ने भी संबोधित करते हुए उनके द्वारा चल समारोह मे दिये जाने वाले सहयोग के लिये साधुवाद व्यक्त किया ।


    Best Offer

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY