• Trending

    Monday, January 29, 2018

    आप और हम मिल करेंगे अपराधों पर नियंत्रण.... नशीले पदार्थो पर लगेगी रोक...... कलेक्टर आशीष सक्सेना ने की पहल


    झाबुआ। बढते अपराधों के ग्राफ एवं पार्थ हत्याकांड के बाद पूरा शहर डरा सहमा हुआ है। पालक अपने  बच्चों को लेकर काफी चिन्तित है। कही आने वाली घटना उनके बच्चों के साथ तो न हो जाए। जिसे देखते हुए बच्चों की सुरक्षा एवं अपराधों के नियंत्रण के लिए कलेक्टर आशीष  सक्सेना द्वारा एक पहल की गई। इस पहल में कलेक्टर द्वारा शहर की शासकीय एवं अशासकीय स्कूलों के प्राचार्य, पालकों एवं नगर के गणमान्य नागरिकों को बुलाकर कलेक्टोरेट सभा कक्ष में बैठक का आयोजन किया। बैठक में श हर के गणमान्य नागरिकों द्वारा जिले में बढते अपराध एवं नशीले पदार्थो की बिक्री एवं उसे किस प्रकार से रोका जाए। इस बारे में कलेक्टर के समक्ष अपने अपने मत प्रस्तुत किया। कलेक्टर आशीष  सक्सेना की इस पहल का सभी से स्वागत किया। बैठक के दौरान पालकों द्वारा यहां भी बताया गया कि कई स्थानों पर असमाजिक गतिविधियां चल रही है... जिसके नियंत्रण के लिए हर गली महोल्ले से एक एक व्यक्ति चुन इन गतिविधियों को कलेक्टर एवं अन्य अधिकारियों के संज्ञान में लाए ताकि अपराधों पर नियंत्रण लाया जा सके। 

    बैठक में कलेक्टर आशीष  सक्सेना के अलावा विधायक शांतिलाल बिलवाल, एडीशनल एसपी रचना भदौरिया, नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती मन्नु डोडियार, सीएमएचओ, डाॅ. चोैहान, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं एवं बाल विकास जमरा, जिला शिक्षा अधिकारी सोलंकी, जिला आबकारी अधिकारी, अभिषेक तिवारी जिला परिवहन अधिकारी गुप्ता एवं सरकारी एवं निजी स्कूलों के प्रमुख तथा समाज सेवी संसथाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे। बैठक में विद्यालयों में विद्याार्थियों की सुरक्षा व्यवस्था एवं अन्य सुरक्षा संबंधी विषयो पर चर्चा की गई एवं आवश्यक निर्णय लिये गये।
    बैठक के दौरान कलेक्टर द्वारा  उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित  किया गया कि बच्चों को नशीले पदार्थो के सेवन से बचाने के लिये स्कूलो एवं अन्य शैक्षणिक संस्थाओं के समीप नशीले पदार्थो की खरीदी बिक्री पर सख्ती से नियंत्रण किया जाये। स्कूली वाहन में सभी सुरक्षा संबंधी व्यवस्थाएॅ सुनिश्चित की जाये। बच्चो के शैक्षणिक एवं व्यावहारिक ज्ञान के लिए सीबीएसई के अनुसार नियम को फालो करे, विधालयो में नियमित रूप से सामान्य विषयो पर काउन्सलिंग करवाये। किशोरो की सुरक्षा के मामले को लेकर व्यापारी संघ, सामाजिक कार्यकत्र्ता, पेंशनर, मीडिया, निर्वाचित जनप्रतिनिधि की प्रत्येक वार्ड में नगर सुरक्षा समिति, बनाकर  निगरानी करे और बच्चों को गलत करने पर टोके, झाबुआ शहर के 5 कि.मी. तक के क्षैत्रफल में नशीली दवाईओ एवं पदार्थो की बिक्री पर नियंत्रण सख्त किया जाये। स्कूलो में प्रेरणा संवाद निरंतर हो। अभिभावक अपने बच्चो के स्कूली बेग की निरंतर चेकिंग करे। स्कूल प्रबंधन भी बच्चो के व्यवहार पर निगरानी रखे यदि बच्चे कुछ गलत, व्यवहार करते है, तो पालको को बताये। स्कूलो में बच्चो के मोबाईल लाने पर रोक रहे। रात के 10 बजे बाद बच्चे बाईक से घूमते नजर आये तो पुलिस गश्त पर तैनात जवान उन्हे अवश्य टोंके। स्कूल प्रबंधन प्रतिमाह पालक शिक्षक की बैठक आयोजित कर अभिभावक को बच्चे के व्यवहार के बारे में बताये। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया गया कि दवाईयाॅं सुरक्षित तरीके से लायसेंसधारी व्यक्ति ही बेच पाये यह सुनिश्चित करे। पुलिस, प्रशासन, मीडिया, शिक्षक, अभिभावक, जनता समन्वित प्रयास करके विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए समन्वित प्रयास करे और बच्चो की गलती के बारे में अभिभावक को बताये। अभिाभावक का यह दायित्व है कि वे बच्चे को गलत व्यवहार करने पर टोके और क्या सही है, उन्हे बताये। उन्हे नैतिक मुल्यो की जानकारी दे, अच्छा व्यवहार करना सिखाये। 

    Best Offer

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY