• Trending

    Monday, March 12, 2018

    *पीपल को दशामाता मान किया पूजन*........... मंदिरों में लगा माता भक्तों का तांता


    पेटलावद। नगर में श्री बड़ा रामजी मंदिर स्थित पिपली बाड़े में प्रतिवर्ष अनुसार इस वर्ष भी सोमवार को दशामाता का पूजन विधि विधान से शुरू हुआ। जहाँ पर पूजा और व्रत की कथा का संचालन गामोठ परिवार वर्षो से करते आ रहे है। इस वर्ष भी वर्तमान गामोठ पं. प्रकाशचंद्र कौशिक द्वारा सुबह 4 बजे माँ दशामाता को 10 तार की जनेऊ पहनाकर व्रत की शुरुवात की। स्टेट के जमाने से पूजी जा रही है ये पीपल, आम धारणा है कि ये वृक्ष 200 वर्ष से भी अधिक प्राचीन है। 
    "घर की दिशा एवं दशा ठीक रहे इस हेतु सुहागिन महिलाएं चैत्र कृष्ण पक्ष दशमी को पीपल के वृक्ष को माँ दशामाता स्वरूप मानकर पुजन एवं व्रत करती है, एवं 10 गठानों वाले सूत के बने धागे को वर्षभर धारण करती है।" नगर के कई स्थानों पर पीपल की पूजा होती है गणपति चौक, प्राचीन शनि मंदिर , नीलकंठेश्वर महादेव राम मोहल्ला आदि स्थानों पर बड़ी श्रद्धा व भक्ति दशा माँ का पूजन किया गया।
     नगर में कोई अप्रिय घटना ना हो इसलिए त्योहारों पर प्रशासन भी चारो ओर मुश्तेद नजर आया। बड़ा रामजी मंदिर पर पुलिस जवानों के साथ विशेष महिला पुलिस को भी तैनात।

    Best Offer

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY