• Trending

    Wednesday, March 21, 2018

    सफलता की नई कहानी ...... खेती में उन्नत वैज्ञानिक तकनीको का उपयोग कर दलिया बने लखपति



    झाबुआ। /थांदला ब्लाक के उन्नतशील किसान श्री दलिया पिता वसना निवासी सुतरेटी ब्लाक थांदला ने खेती को व्यावसाय की तरह करना प्रारंभ किया एवं उन्नत वैज्ञानिक तकनीको का उपयोग कर खेती को लाभ का धंधा बना लिया। पंरपरागत खेती से जितनी जमीन में मात्र 20-25 हजार रूपये वार्षिक कमाई होती थी, उसी से अब वह औसत 2 लाख वार्षिक आय अर्जित कर रहे है। सोयाबीन, मक्का, कपास जैसी परपंरागत खेती  करने वाले किसान दलिया को जब उद्यानीकी विभाग की तरफ से ड्रीप, किसान भ्रमण कार्यक्रम में सहभागिता एवं उद्यानिकी फसलों का मार्गदर्शन मिला, तो उन्होने उद्यानिकी फसलो के उत्पादन का प्रशिक्षण लेकर विकास की रफ्तार पकड ली। वैज्ञानिक तकनीको और शासकीय अनुदान का उपयोग कर वे क्षैत्र के अच्छे किसानो की श्रैणी में आ गये है। तकीनीकी ज्ञान की कमी एवं संसाधन सीमित होने से वह कड़ी मेहनत के बाद भी अपनी आय में वृद्धि नहीं कर पा रहे थे। किन्तु जब वैज्ञानिक तकनिकों और उद्यानिकी विभाग से प्राप्त शासकीय अनुदान सब्जी, बीज एवं दवाई का लाभ लिया तो वह विकास की अग्रिम पंक्ति में आ गये। खरीफ फसल से 20-25 हजार वार्षिक कमाने वाले दलिया ने अपने खेत में टमाटर, बैंगन की फसल ड्रीप के साथ लगाई और एक वर्ष में 2 लाख से अधिक वार्षिक आय अर्जित की। प्राप्त आमदनी के बाद उन्होने उद्यानिकी फसल पालक, मिर्च, धनिया, मैथी इत्यादि अपने खेत में लगाई अब वह अपने खेत में और अधिक उद्यानिकी फसले लगाकर आय अर्जित कर रहे है। 
    झाबुआ जिले के ग्राम सुतरेटी में रहने वाले कृशक  दलिया ने चर्चा के दौरान बताया कि सिंचाई के लिये वे ड्रीप सिस्टम लगाकर खेत में टमाटर, भिण्डी, बैंगन इत्यादि फसल लगाते है। इससे उनकी आर्थिक स्थिति सुदृढ हुई। ड्रीप एवं सब्जी की फसल लगाने से पहले इतनी आय नहीं हो पाती थी कि वे पक्का मकान बना पाते/अब उन्होने तीन मंजिला पक्का आवास बना लिया है, खेती कार्य के लिए ट्रेक्टर एवं थ्रेसर भी खरीद ली है।  बच्चे को अच्छी पढाई करवाई वह अब विद्युत मण्डल में सुपरवायजर की नौकरी कर रहा है। 




    Best Offer

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY