• Breaking News

    Sunday, March 25, 2018

    होसान्ना, हल्लेलुया के जयघोष से गुंजा चर्च प्रांगण........ खजुर रविवार के साथ शुरू हुआ कैथोलिक ईसाई समुदाय का पवित्र सप्ताह


    झाबुआ। दाउद के पुत्र को होसान्ना, धन्य हैं वह जो प्रभु के नाम पर आते हैं। सर्वोच्च में होसान्ना के जयघोष और गीतों से पवित्र खजुर रविवार की धर्म विधियों को प्रारंभ किया गया।  आज से संपूर्ण कैथोलिक ईसाइ समाज का पवित्र सप्ताह शुरू हो गया है। यह समय पूजन वर्ष का सबसे महत्वपूर्ण समय है। चालीसे के आरंभ से ही सभी भाई बहन तपस्या, उपवास और परोपकार के कार्यो द्वारा अपने आप को पास्का के रहस्य को मनाने के लिए तैयार कर रहे है।  खजुर रविवार से इस पूण्य सप्ताह की शुरूआत होती है और इसका समापन पास्का पर्व से होता हैं। 
          प्रातः 8 बजे  समाजजन झाबुआ की न्यू कैथोलिक मिशन स्कूल प्रांगण में एकत्रित हुए। प्रार्थना की शुरूआत मुख्ययाजक के रूप में फादर मनोज कुजुर ने की। उन्होने ने खजुर की डालियों को आशीष देकर अन्य पूरोहितों के साथ जुलुस की अगवानी की। मुख्य पुरोहित के साथ फादर पीटर खराडी, फादर स्टीफन वीटी, फादर पीटर कटारा, फादर जो, फादर दीपक एवं फादर राॅकी शाह साथ थे।


            डायोसिस पीआरओ फादर राॅकी शाह ने बताया कि जुलुस चर्च काॅलोनी से होता हुए चर्च के मुख्य द्वार से प्रवेश करते हुए मुख्य वेदी के सामने समाप्त हुआ। तत्पश्चात पवित्र मिस्सा अनुष्ठान किया गया। प्रवचक फादर पीटर कटारा ने अपने उपदेश में आज के पर्व की अहमियत को समझाया और युवक युवतियों को विशेष संबोधित करते हुए। अच्छा आचरण प्रस्तुत करने, अपने माता पिता का आदर करने और कलीसिया के नियम मानने के लिए उन्हे आव्हान किया।
              वहीं कैथोलिक डायोसिस झाबुआ के डाॅ. बिशप बसील भूरियाजी ने खजुर रविवार की धर्मविधी पंचकुई पल्ली में संपन्न की। उन्होने अपने उदबोधन में समाज के सभी लोगों को प्रभु के प्रेम को समझने का आव्हान किया। उन्होने कहा हम प्रभु के प्रेम त्याग को तभी समझ सकते है जब हम अपने पडोसी को प्रेम कर सके। सभी लोगों के लिए हम हमेशा प्रार्थना करते रहे। ताकि प्रभु येसु ख्रीस्त का प्रेम समाज के सभी लोगों पर बना रहे, समाज के हर एक व्यक्ति के जीवन में शांति हो।
    इस पवित्र सप्ताह में सोमवार को झाबुआ में क्रिस्म मिस्सा का अनुष्ठान डाॅ. बिशप बसील भूरिया द्वारा डायोसिस के सभी पुरोहितों के साथ किया जायेगा। सुबह 9 बजे से सभी पुरोहित महागिरजाघर में प्रार्थना करेंगे और शाम साढे 5 बजे पवित्र मिस्सा बलिदान में भाग लेते हुए अपने पुरोहितिक व्रतों को पुनः दोहराएंगे। पुरे वर्ष में पुजन विधियों में उपयोग किए जाने वाले पवित्र तेल को प्रार्थनाओं के द्वारा तैयार किया जायेगा। पवित्र गुरूवार को शाम 6 बजे पवित्र मिस्सा बलिदार में 12 शिष्यों के पैर धोए जायेगे और उसके उपरांत मध्य रात्रि 12 बजे तक विशेष प्रार्थनाएं की जायेगी। पवित्र शुक्रवार की धर्मविधी दोपहर 1 बजे न्यू कैथोलिक मिशन स्कूल से पवित्र कु्रस मार्ग के साथ शुरू होगी। जिसके पश्चात दोपहर 3 बजे चर्च प्रांगण में पवित्र कु्रस की उपासना होगीं। पवित्र शनिवार को रात्रि 10 बजे से पवित्र धर्म विधियां शुरू होंगी इसी के साथ पास्का पर्व शुरू हो जायेगा।


    Best Offer

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY