• Breaking News

    Monday, April 23, 2018

    नवाचारी पद्धति से पढ़ाना सीख रहे झाबुआ के विज्ञान शिक्षक





    झाबुआ। ज़िले के विज्ञान शिक्षकों तीळ एक कार्यशाला राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और संचार परिषद नई दिल्ली के तत्वाधान मेंकलेक्टर आशीष सक्सेना के निर्देशानुसार के सहायक आयुक्त के जनजातीय कार्य को भाग वो कोई और जनजातीय कार्य विभाग श्री गणेश भास्कर के मार्गदर्शन में है सोमवार को प्रारंभ हुई। कार्यशाला का प्रारंभ कार्यक्रम संयोजक प्राचार्य श्रीमती आयशा कुरेशी की अध्यक्षता में हुआ। कार्यशाला के सभी अतिथि विद्वानों का परिचय प्रवीण खुराना ने दिया। 
    सरस्वती पूजन के बाद एस्ट्रोनॉमिका साइंस एक्टिविटी एंड एजुकेशन सोसायटी समन्वयक इंजीनियर भारत भूषण गांधी ने इस कार्यशाला की उपयोगिता पर बताते हुए कहा कि देश को ज़रूरत है कि उसके विज्ञान विद्यार्थी विज्ञान विषय को बेहतर ढंग से समझें और वैज्ञानिक बनकर देश को वेद विज्ञान की क्षेत्र में समृद्धकरें। भोपाल से पधारे भौतिक विज्ञान शास्त्र वैज्ञानिक डॉक्टर KM जानने शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षण इस प्रकार से होना चाहिएके विद्यार्थी को विज्ञान कक्षा में आनंद आया और उसे विज्ञान सेप्रेम हो जाए।।प्रमुख स्त्रोत दौरान प्रमुख स्त्रोत विद्वान वैज्ञानिकडॉक्टर MS मारवाह ने कई प्रयोग भौतिकशास्त्र विश के विषय को बेहतर समझने के लिए कई प्रयोग करके दिखाए थे उन्होंने न्यूटन के नियमों को हुई चैलेंज करते हुए प्रयोग करके दिखाए और उन्होंने कहा कि विज्ञान करके देखने की चीज़ है कि इसके लिए किताब के डब्बे से पाठ्यपुस्तक से निकलकर और बेहतर ढंग से समझने की ज़रूरत है। कार्यशाला के अवसर स्त्रोत विद्वान उदयसिंह राजपूत सहित सहयोगियों में राजकुमार एवं एम एस नरवरिया भी उपस्थित रहे। इस कार्यशाला के मंगलवार को प्रशिक्षु शिक्षक रामा एवं रानापुर विकासखण्ड के स्कूलों के विज्ञान शिक्षक रहेंगे। सोमवार को झाबुआ विख के विज्ञान शिक्षकों ने डॉ मारवाह एवं डॉ के एम जैन से विज्ञान पढ़ाने की नवाचारी पद्धति को सीखा।

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY