• Trending

    Tuesday, July 31, 2018

    मामा के राज में खुले आसमान में पढने को मजबुर बच्चे.... प्रशासन ने नही दिया कोई ध्यान



    पारा से अंकित चौहान की रिपोर्ट........ 
     प्रदेश के मुखिया मामा शिवराजसिंह के भांजे भांजियां खुले आसमान में बैठकर पढने को मजबुर है तो... शिक्षक शौचालय में बैठ काम कर रहे है... पारा क्षेत्र से महज 5 किमी दुर रामा विकास खंड के ग्राम मातासुला भूरिया का जहां बीते कुछ 6 दिनों पहले रात्रि के समय शासकीय शाला भवन की दो दीवारें बीच मे से अचानक ढह गई गनिमत यह रही कि स्कूल की दीवारें स्कूल संचालन के दौरान नही गिरी नही तो कोई भी बडा हादसा हो सकता था। पिछले वर्ष भी भवन का एक हिस्सा ढह ढहा के गिर गया था। जिसकी शिकायत शाला हेडमास्टर ने कई बार हेड मास्टर ने कई जनशिक्षक एवं अधिकारियों को लीखित में शिकायत की। इतनी शिकायतों के बावजुद इसके प्रशासन व भ्रष्ट अफसरों ने तनिक भी इस ओर सुध नही ली। भवन की दोनों दीवारों के आधी आधी गिरने से दीवारों में बडे बडे होल हो चुके है जिसकी वजह से बच्चों एवं उनके पालकों में भय का माहौल बना रहता है। इस भय और जर्जर भवन की वजह से बच्चों को खुले आसमान में बैठकर पढने को मजबुर होना पड रहा है। तो शाला के स्टाॅफ को शौचालय के अंदर गंदगी और बदबु के बीच बैठ कर काम करना पढ रहा है। जब भी बारिश होती है बच्चों को दौड कर शाला के घरों में बैठकर अध्ययन करना पडता है। आसपास के इलाके में कोई शाला भी नही है कि बच्चे वहां जाकर अध्ययन कर सके। जब दीवार गिरने  की खबर सोशल मीडिया पर जैसे ही वायरल हुई तब जाकर प्रशासनिक अमले की नींद खुली। 
    क्या कहते है जिम्मेदार-
    जब इस संबंध में रामा बीईओ  शंकर सीरोटिया से चर्चा की गई तो उन्होने बताया कि 4 दिनों पूर्व ही इस संबंध में जानकारी मिली थी। जिसके चलते मौंके पर पहुंच आसपास किराये से भवन न मिलने पर आनन-फानन में मातासुला भूरिया के ही समीप ग्राम मातासुला डांगी की शासकीय शाला के भवन में बच्चों को शिफट करवाया गया है। 


    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- editor@VoiceofJhabua.com 

    Best Offer

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY