• Trending

    Friday, August 17, 2018

    जब पुरे देश में मोदी... मोदी.... चल रिया था.... तब कांग्रेस को आॅक्सिजन का बाटला चढाया कांतिलाल ने.... दुसरे पाले में है भाजपा के भीतरघाती से लिफाफे लेने वाले









    सभी को मेरा नमस्कार.... लो भियां मैं फिर आ गिया कुछ कही-अनकही के साथ..... भियां कुर्सी के भी क्या केने.... इसके लिए कांग्रेसियों में ऐसी नुराकुश्ति चल री है.... जिसमें दो पाले बन गिये हैं ..... एक तरफ कांतिलाल और विक्रांत..... तो दुसरी तरफ भाजपा के भीतरघाती से लिफाफे लेने वाले.... जिन्हे भाजपा के भीतरघाती ने अपना दास बना रखा है.... एक बात सुन लो...भियां ये मैं नी के रिया... ये बात तो गली... मोहल्लों की चर्चा में आम हो गई.... भियां गलियारों की चर्चा ये भी है.... कांतिलाल को हिलाने की कोशिश सब मिल कर तो कर रिये हो..... पर ये सोच नी रिये है कि कांग्रेस को आॅक्सिजन का बाटला तो कांतिलाल ने नही चढाया.....। 

    भियां जो दास हो... उनसे क्या आस... अपन तो बात मुददे की करते है.... जब पुरे देश में मोदी... मोदी... का नारा गुंज रिये था... चारों तरफ भाजपा ही भाजपा नजर आ री थी... तब उपचुनाव जीत कर कांतिलाल ने ही कांग्रेस को आॅक्सिजन का बाटला चढाया था... इस आॅक्सिजन के बाटले से पुरी कांग्रेस तंदुरूस्त होकर... भाजपा से नजर से नजर मिलाकर खडी हो गी....। 

    पंचायत चुनाव में भी भाजपा के भीतरघाती ने चक्रव्युह बनाया... था... पर कांतिलाल ने उस चक्रव्युह को भेद दिया ... नगर पालिका जो सालों से कांग्रेस की नही थी... लेकिन विक्रांत की अच्छी रणनीति ने नगर पालिका में कांग्रेस बैठ ही गईं... अब भियां बिताओ... कांतिलाल को आलाकमान उसके बेटे के लिए टीकट क्यों नी देगी...। जेब में पप्पु का फोटो रखने... और कसम खाने से कुछ नही होता.... इसलिए भियां जो भीतरघाती अपनी पार्टी का नी हुआ... उसका गुलाम क्यों बन रिये है... कभी भी वो पिछवाडे पर लात मार चल देगा। 

    तो भियां अब मैं चलता हुं... लेकिन जाते जाते एक बात और बिता दुं.... जो.... जो... भाजपा के भीतरघाती से लिफाफे ले रिये है.... वो सोच रिये है... हम समाज में अच्छे नजर आ रिये है... पर भियां ये पब्लिक है सब जान री है.... भोत उड लिए अब नीचे आ जाओ.... सब थू... थू... कर रिये है... भीतरघाती तो सरकार हिलाने के लिए हवन भी करने जा रिया है... तुम क्यों गले में पटटा बांधे धुम रिये है.... मेरा काम था गलियारों चर्चाओं को बिताने का.वो बिता दी.... अब जा रिया... भारत माता की जय। 


    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- editor@VoiceofJhabua.com 

    Best Offer

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY