• Trending

    Monday, August 6, 2018

    पाॅलिटेक्निक काॅलेज के छात्रों को मिलने वाले भोजन में निकलने कीडे..... मेनेजर ने छात्रों से अभद्र व्यवहार कर किया जाति सूचक शब्दों का प्रयोग



    झाबुआ। स्थानीय पॉलिटेक्निक काॅलेज में अपना भविष्य बनाने दुर दराज से आये छात्रों को पिछले काफी समय से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं.  भोजन तो हमेशा से होस्टल में रहने वाले छात्रों  को घटिया किस्म का ही दिया जा रहा है। जिसकी शिकायत कई बार कलेक्टर को भी की जा चुकी है। हर रोज की तरह आज भी साढे 12 बजे जब छात्रों को भोजन मिला तो छात्रों को भोजन में कीड़े  नजर आये । जिसकी शिकायत छात्रों द्वारा भोजनशाला के संचालक को की। इस भोजन को लेकर  मेनेजर के साथ छात्रों की बहस भी हुई। बहस के दौरान  भोजनशाला के मैनेजर और यहां काम कर रहे कर्मचारी ने विद्यार्थियों से जातिसूचक शब्द कहकर अभद्रता की जिसके बाद आक्रोशित विद्यार्थियों ने सांसद प्रतिनिधि वसीम सैयद को फोन लगा कर मौके पर बुलाया। लेकिन सांसद प्रतिनिधि को भोजनशाला  में गुणवत्ता की जांच करने के लिए अंदर जाने नहीं दिया गया।  उनके साथ भी अभद्रता की मारपीट की धमकी देकर वहां से जाने का कह दिया गया। इसके बाद सांसद प्रतिनिधि ने सांसद और संस्था प्राचार्य दोनों से शिकायत की। 

     
          छात्रों को मिलने वाले घटियां भोजन के संबंध में छात्रों द्वारा जिला प्रशासन को भी कई बार शिकायत की जा चुकी है  गई। लेकिन जिला प्रशासन द्वारा भी इस ओर सुध भी नही ली गई। जब छात्रों के भोजन में कीडे निकले तो छात्रों को मेस संचालक द्वारा डराया धमकाया गया। ये बात जिला प्रशासन तक भी पहुंची। लेकिन न तो जिला प्रशासन के आलाधिकारी वहां पहुंचे और न ही इस ओर सुध ली। 

    पॉलिटेक्निक कॉलेज में पिछले 8 साल से आकाश ट्रेडर्स का भोजन का ठेका है। इसका मैनेजमेंट मोहन यादव के द्वारा किया जाता है। राजस्थान के झालरापाटन में निर्मित सांवरिया आटा बच्चों के खाने में प्रयोग किया जा रहा है।  इस आटे की थेलियों पर मैन्युफैक्चरिंग डेट और एक्सपायरी डेट नहीं छपी हुई है। लोकल कंपनी का खराब आटा होने के कारण कई बार यहां के विद्यार्थियों ने आटे की गुणवत्ता को लेकर प्रश्न भी उठाया है। बच्चों ने बताया कि यहां पर सब्जियां रखने के लिए कोल्ड स्टोरेज भी नहीं है खराब हालत में पड़ी सब्जियां भी काटकर सब्जियां बना दी जाती है आए दिन सब्जी में बदबू और कीड़े निकलते है। जिसकी शिकायत करने पर कोई कार्रवाई नहीं होती उलटा प्रैक्टिकल में नंबर काटने की धमकी दी जाती है।


    गिरीश गुप्ता प्राचार्य पॉलिटेक्निक कॉलेज - 
    मैं उस समय टीएल की मीटिंग में था। हमारे यहां पर जब भी ऐसा होता है हम पूरा खाना फिकवा कर नई सब्जी बना देते हैं। सांसद प्रतिनिधि से भोजन शाला संचालक द्वारा बदतमीजी करने पर हम दोनों से बात करेंगे,समझाइश देंगे ऐसा नहीं करें।
    पाॅलिटेक्निक काॅलेज के छात्रों को मिलने वाले भोजन में निकले कीडे...... पहले भी की थी शिकायत 
    स्थानीय पाॅलिटेक्निक काॅलेज छात्रावास के बच्चों को हर रोज मिलने वाले भोजन छात्रों के भोजन में निकले किडे..... छात्रों ने 
    छात्रों के खाने में निकले कीडे..... छात्रों ने जताया आ सांसद प्रतिनिधी को छात्रों को इस बात से करवाया अवगत 
    झाबुआ। स्थानीय पाॅलीटेक्नीक काॅलेज में जब छात्रों को भोजन मिल रहा था तभी अचान  11 30 
    झाबुआ। 
    पोलिटेकनीक काॅलेज में निकले किड 
    ठेकेदार आकाश टेडार उज्जैन 8 बर्षो से ठेका चला रहा है 


    Best Offer

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- Editor@VoiceofJhabua.com 

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY