• Trending

    Wednesday, January 16, 2019

    घट स्थापना के दिन क्यों नही हो पाया स्थानीय अवकाश घोषित..... कहीं ये राजनैतिक साजिश तो नही


    झाबुआ। शारदीय नवरात्रि घटस्थापना के दिन राजगढ नाका मित्र मंडल द्वारा विशाल चल समारोह का आयोजन  वर्षो से  किया जाता आ रहा है। ये चल समारोह प्रदेश ही नही देश के कई राज्यों में ख्याति प्राप्त है। बस स्टेंड से प्रारंभ होने वाले इस चल समारोह में हजारों की तादात में श्रद्धालु शामिल होते है। इतने विशाल कार्यक्रम को देखते हुए तत्कालीन कलेक्टर जयश्री कियावत ने उस समय स्थानीय अवकाश घोषित किया था। तब से अभी तक इस आस्था के पर्व  घट स्थापना के दिन स्थानीय अवकाश घोषित किया जाता आ रहा है।  पिछले 7 वर्षो से लगातार स्थानीय अवकाश होने की वजह से श्रद्धालु पुरी श्रद्धा के साथ इस कार्यक्रम में शामिल होने के साथ साथ देश भर से आए कलाकारों द्वारा दिखाए जाने वाली आकर्षक झांकियों का लुफत भी उठाते है।

           लेकिन इस वर्ष सामान्य पुस्तक के परिपत्र 02 के अनुक्रमांक 04 के नियम 08 तथा मप्र शासन सामान्य प्रशासन विभाग भोपाल की अधिसूचना में 30 मार्च 1999 के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए कलेक्टर प्रबल सीपाहा ने वर्ष 2019 के लिए संपूर्ण जिले के लिए विश्व आदिवासी दिवस 9 अगस्त, 2 सितंबर 2019 को गणेश चतुर्थी तथा दीपावली के दूसरा दिन 28 अक्टूबर को स्थानीय अवकाश घोषित किया है। 

          मगर घटस्थापना के दिन जो स्थानीय अवकाश हर वर्षो घोषित किया जाता है  वो इस वर्ष घोषित नही किया गया। जिसके चलते श्रद्धालुओं मे काफी निराशा व्याप्त  है। श्रद्धालुओं का कहना है कि अगर कलेक्टर साहब  चाहते तो आस्था का केन्द्र बने चल समारोह के दिन स्थानीय अवकाश घोषित कर सकते थे। लेकिन उन्होने ऐसा नही करते हुए श्रद्धालुओं के दिलों को ठेस पहुंचाई है। गणेश चतुर्थी की बजाय घट स्थापना के दिन स्थानीय अवकाश घोषित कर दिया जाता तो अच्छा रहता । श्रद्धालुओं का यह भी कहना है अचानक से प्रशासन के फेरबदल और राजनीति साजिश की वजह सालों से जो घट स्थापना के दिन जो अवकाश घोषित होता आ रहा है। उसे अचानक से  घोषित नही करना कई सवालिया निशान खडे कर रहे है।

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- editor@VoiceofJhabua.com 

    Best Offer

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY