• Trending

    Thursday, February 14, 2019

    लुट का शिकार हुए पीडित परिवार आरक्षक से गुहार लगाते रहे... आरक्षक साहब मोबाईल चलाने में थे व्यस्त ....


    पारा से अंकित चौहान की रिपोर्ट.......  
    झाबुआ। कालीदेवी से पारा जा रहे प्रजापति परिवार को बुधवार रात्रि 10 बजे के लगभग अज्ञात बदमाशों ने सडक पर रापी गाड लुट को अंजाम दिया।  पुलिस को इस बात की जब सुचना दी तो पहले चैकी प्रभारी की गश्ती पर होने का हवाला दे दिया। बाद में जब पीडित परिवार चैकी पहुंचा तो वहां पुलिस आरक्षक चैकी का दरवाजा बंद मिला और अंदर आरक्षक और तीन अन्य आराम फरमा रहे थे। पीडित परिवार आरक्षक से विनती करता रहा लेकिन आरक्षक मोबाईल चलाने में ही व्यस्त नजर आयां 
    झाबुआ निवासी ओमप्रकाश प्रजापति अपने परिवार पिता, पत्नी और पुत्र के साथ कालीदेवी में शादी समारोह में शामिल होकर अपने पेतृक गांव पारा लौट रहे थे। तभी अचानक पारा से महज 2 किमी की दुरी पर अचानक गाडी का टायर से हवा निकलने की आवाज सुनाई दी। तभी उन्होने गाडी रोकी और प्रजापति दंपत्ति गाडी से बाहर आये तो उन्होने देखा की टायर पंचर हो गया है। तभी उन्होने इसकी सुचना अपने परिजनों को दी। जब तब परिवार के परमानंद प्रजापति वहां पहुंते तब तक तो बदमाशों ने पिछे से आकर परिवार के साथ छिना झपटी कर महिला से उनका मंगलसूत्र और बेग पिता के जेब से पर्स ओर नगदी ओमप्रकाश के पास से उनका मोबाइल फोन तो पुत्र के हाथ से उसका स्कूल बैग छीना सामने से वाहन को आता देख बदमाश भागने लगे। भागते भागते उन्होने  दूसरी कार पर भी पत्थर बरसाए।

    घटना के तुरंत बाद इस बात की सुचना चैकी प्रभारी को भी दी गई। लेकिन चैकी प्रभारी ने पल्ला झाडते हुए स्वयं को गश्त पर होना बताया। जिसके बाद पीडित परिवार पारा चैकी पहुंचे। लेकिन वहां का नजारा ही कुछ अलग था। चैकी के दरवाजे बंद और अंदर एक आरक्षक और 3 अन्य लोग सो रहे थे।  जैसे तैसे पीडित परिवार ने उन्हे उठाया। पीडित परिवार ने आरक्षक से बहुत विनती की चलों आरोपीगण ज्यादा दुर नही गए है। कही ऐसा न हो किसी अन्य राहगिर को वो अपना शिकार बना ले। इस तरह से लगभग 30 मीनिट तक पीडित परिवार आरक्षक से गुहार लगाता रहा। लेकिन आरक्षक उनकी न सुनते हुए मोबाईल चलाने में व्यस्त थे।  इस घटना की जानकारी पीडित परिवार ने डायल 100 को भी दे दी थी। जिसके चलते डायल 100 चैकी पुलिस के जाने से पहले ही घटना स्थल पहुंच गई। जब चैकी प्रभारी आये तब पीडित परिवार की सुनी गई।  जब चैकी प्रभारी से आरक्षक के बारे में चर्चा की गई तो उन्होने चैकी प्रभारी ओर हेडसाहब आरक्षक को नए है.... यह कह कर पल्ला झाड दिया। सक मोबाईल, टुटी हुई माला, पानी की बोतल, टामी बरामद हुई। उक्त घटना की जानकारी पुलिस अधीक्षक को रहवासियों द्वारा पुलिस अधीक्षका को भी दी। जिसके चलते पुलिस अधीक्षक विपीन जैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक , एसडीओपी अपने बल के साथ तुरंत वहां पहुंचे जिनके द्वारा मौके का मुआईना कर लुट का शिकार हुए प्रजापति से बदमाशों के चेहरे और दुलिया जानकर प्रारंम्भिक लूट शिकार हुए प्रजापति से जान प्रारंभिक जांच प्रारंभ कर दी है। 

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- editor@VoiceofJhabua.com 

    Best Offer

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY