• Trending

    Saturday, February 16, 2019

    फलोरोसिस पीडित बच्चों के ईलाज के लिए भारती सोनी ने आदिवासी संस्कृति पर बनी पिथौरा कलाकृतियां की भेंट ...... कलाकृतियों से मिलने वाले पैसे से फलोरोसिस पीडित बच्चों को मिलेगी मदद



    झाबुआ। बबलू संगीत एव कला संस्था झाबुआ की अध्यक्ष एवं समाजसेवी श्रीमती भारती सोनी द्वारा कला के क्षेत्र में नित नए आयाम रचे जा रहे है। उन्होंने करीब 2 महीने मेहनत कर कपड़े पर पिथौरा कला करते हुए जिले की आदिवासी संस्कृति को अद्भुत एवं अनोखे रूप से उकेरा है। श्रीमती भारती सोनी द्वारा यह यह पिथौरा कलाकृतियां 16 फरवरी, शनिवार को इनरेम फाउंडेषन के कम्यूनिटी मोबलाईजेषन आॅफिसर सचिन वाणी एवं फिल्ड रिसोस पर्सन जितेन्द्र पाल को प्रदान की। उनके द्वारा इन कलाकृतियों को अमेरिका (यूएस) भिजवाया जाएगा। जहां यह प्रचार-प्रसार का माध्यम बनने के साथ इन कलाकृतियों के माध्यम से संग्रहित होने वाली राषि का उपयोग झाबुआ जिले के फलोरोसिस पीड़ित बच्चों के उपचारार्थ किया जा सकेगा।
    बबलू संगीत एवं कला संस्था की अध्यक्ष श्रीमती भारती सोनी ने बताया कि पिछले 2 महीने पूर्व उनकी चर्चा इनरेम फाउंडेषन के सुंदराजन कृष्णन एवं राज नारायण इंदु से हुई थी। चर्चा में उनके द्वारा श्रीमती सोनी से उनकी कला के क्षेत्र में विषेष रूचि को देखते हुए कहा गया था कि आप पिथोरा कला के माध्यम से झाबुआ जिले की संस्कृति को प्रस्तुत कर वह हमे प्रदान करे, ताकि हम झाबुआ की संस्कृति को भारत देष नहीं अपितु विदेषों में भी प्रसारित कर इस कला को ओर अधिक प्रोत्साहन दे सके। 
    घर पर 2 महीने में तैयार की 6 कलाकृतियां
    जिस पर श्रीमती सोनी ने अपने घर पर ही करीब 2 महीने में कपड़े पर जिले की आदिवासी संस्कृति को प्रतिपादित करती 6 पिथौरा कलाकृति तैयार की गई। जिसे 16 फरवरी, शनिवार को दोपहर डेढ़ उन्होंने इनरेम फाउंडेषन के सचिव वाणी एवं जितेन्द्र पाल के साथ ग्राम अमराल नवापाड़ा के 8 वर्षीय बालक रामू पिता लालू बारिया को प्रदान की। 
    अमेरिका में अरमान कपूर करेंगे प्रचार-प्रसार
    यह 6 कलाकृतियां उनके द्वारा भोपाल में प्रोफेसर राधिका अयंगर को प्रदान की जाएगी, चूंकि राधिका अयंगर एवं कोलंबी यूनवर्सिटी अमेरिका में अध्ययनरत छात्र, जो इनरेमे फाउंडेषन से जुड़े है। अरमान अमेरिका (यूएस) में राधिका अयंगर के पड़ौसी है। राधिका अयंगर द्वारा यह कलाकृतियां अरमान कपूर को प्रदान कर अरमान द्वारा इस कलाकृति को अमेरिका में प्रचारित-प्रसारित कर झाबुआ की संस्कृति एवं परपंराओं से अमेरिकावासियों को रूबरू करवाने के साथ ही इसके माध्यम से जो राषि एकत्रित होगी, वह झाबुआ जिले में भेजकर इस राषि का रामू जैसे सैकड़ों फलोरोसिस प्रभावित बच्चों के इलाज के लिए इनरेम फाउंडेषन झाबुआ द्वारा उपयोग किया जाएगा। श्री वाणी ने बताया कि इसमें उनके पानी, न्यूट्रिषियन, दवाईयों आदि की व्यवस्था की जाएगी, ताकि बच्चें अपना जीवन सुंदर बना सके। 
    जल्द ही लगाई जाएगी कलाकृतियों की प्रदर्षनी
    कलाकृतियां प्रदान करने के दौरान श्रीमती भारती सोनी ने बताया कि उनके द्वारा झाबुआ जिले की संस्कृति एवं परंपरा को संरक्षण मिले एवं इसका अधिकाधिक प्रचार हो सके, इस हेतु उनके द्वारा अतिषीघ्र बनाई गई कलाकृतियों की प्रदर्षनी लगाई जाएगी। ज्ञातव्य है कि इससे पूर्व भी षिवगंगा के हलमा कार्यक्रम में उनकी कलाकृतियों की प्रदर्षनी पैलेस गार्डन पर लग चुकी है, जिसे काफी सराहना मिली थी।

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- editor@VoiceofJhabua.com 

    Best Offer

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY