• Trending

    Tuesday, February 19, 2019

    कलेक्टर साहब पर्यवेक्षीका मुझे आत्महत्या करने पर मजबुर कर रही है!


    कल्याणपुरा से ओमप्रकाश राठौर की रिपोर्ट.......
    पर्यवेक्षक की अभद्रता और प्रताडना से एक आंगवाडी कार्यकर्ता को आत्महत्या के लिए मजबुर होना पड सकता है। कार्यकर्ता इतनी प्रताडित हो गई कि आखिर उसे कलेक्टर के समक्ष गुहार लगाने पहुंचना पडा। जहां उसने सीधे तौर पर आवेदन में कह डाला मुझे पर्यवेक्षक मेडम आत्महत्या करने पर मजबुर कर रही है। 
    कल्यापुरा क्षेत्र के चारण फलिए में संचालित आंगवाडी में पदस्थ कार्यकर्ता  गायत्री बुंदेला पिछले 20 वर्षो से आंगवाडी का संचालन अच्छी तरह से संचालित करती आ रही है। लेकिन पिछले 4 वर्षो उनके केन्द्र पर्यवेक्षक श्रीमती लक्ष्मी त्रिवेदी उसे मानसिक व आर्थिक रूप से परेशान कर रही है। एक पैर से विकलांग गायत्री के आंगनवाडी केन्द्र पर पिछले 1 वर्ष से सहायिका भी नही है। विगलांग होने के बावजुद गायत्री घर घर जाकर बच्चों को इकटठा करती है।  आंगनवाडी की सफाई भी स्वयं करती है।  फिर भी फिर उसे पर्यवेक्षक द्वारा मानसिक रूप से प्रताडित किया जाता है। 5 फरवरी को पर्वक्षक श्रीमती लक्ष्मी त्रिवेदी गायत्री के पास पहुंची और उसे गाली गलोज देने के साथ नौकरी न करने की धमकी भी दी।  पिछले 4 वर्षो से इस तरह से अभद्रता और गाली गलोज पर्यवेक्षक द्वारा की जा रही है। जिसकी शिकायत मौखिक रूप से गायत्री ने अपने वरिष्ठों को भी गई मगर वरिष्ठों द्वारा भी इस ओर ध्यान नही दिया गया। जिसके चलते गायत्री ने 7 फरवरी मगंलवार को जनसुनवाई में इन बातों को लेकर कलेक्टर के समक्ष आवेदन सौंपा और  अपनी समस्या से अवगत करवाया। 
    आवेदन में गायत्री ने स्पष्ठ किया है कि पर्यवेक्षक द्वारा उसे मानसिक और आर्थिक रूप से परेशान किया जा रहा है। मैं विकलांग हुं और अकेली रहती हुं। इस मानसिक प्रताडना से मैं परेशान हो गई हुं। पर्यवेक्षक मुझे आत्महत्या करने को मजबुर कर रही है। साहब मुझ विकलांग की सहायता किजीए। पर्यवेक्षक की प्रताडना से अगर मेरे द्वारा कोई आत्मघाती कदम उठाया जाता है तो इसकी पूर्ण जिम्मेदारी पर्यवेक्षीका श्रीमती लक्ष्मी त्रिवेदी की रहेगी। 

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- editor@VoiceofJhabua.com 

    Best Offer

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY