• Trending

    Saturday, February 23, 2019

    शहीदों को स्मरण कर दी श्रद्धांजलि - रज्जक समाज ने धुमधाम से मनाई संत गाडगे जयंति ....... नगर मे निकाली गई विशाल शोभायात्रा



    झाबुआ । डेबुजी झिंगराजि जानोरकर साधारणतः संत गाडगे महाराज और गाडगे बाबा के नाम से जाने जाते थे। वे एक समाज सुधारक और घुमक्कड भिक्षुक थे जो महाराष्ट्र में सामाजिक विकास करने हेतु साप्ताहिक उत्सव का आयोजन करते थे। उन्होंने उस समय भारतीय ग्रामीण भागो का काफी सुधार किया और आज भी उनके कार्यो से कई राजनैतिक दल और सामाजिक संस्थान प्रेरणा ले रहे है। उनका वास्तविक नाम देवीदास डेबुजी था। महाराज का जन्म महाराष्ट्र के अमरावती जिले के अँजनगाँव सुरजी तालुका के शेड्गाओ ग्राम में एक धोबी परिवार में हुआ था। गाडगे महाराज एक घूमते फिरते सामाजिक शिक्षक थे। वे पैरो में फटी हुई चप्पल और सिर पर मिट्टी का कटोरा ढककर पैदल ही यात्रा किया करते थे। और यही उनकी पहचान थी। जब वे किसी गाँव में प्रवेश करते थे तो गाडगे महाराज तुरंत ही गटर और रास्तो को साफ करने लगते। और काम खत्म होने के बाद वे खुद लोगो को गाँव के साफ होने की बधाई भी देते थे। संत गाडगे बाबा सच्चे निष्काम कर्मयोगी थे। महाराष्ट्र के कोने-कोने में अनेक धर्मशालाएँ, गौशालाएँ, विद्यालय, चिकित्सालय तथा छात्रावासों का उन्होंने निर्माण कराया। यह सब उन्होंने भीख माँग-माँगकर बनावाया किंतु अपने सारे जीवन में इस महापुरुष ने अपने लिए एक कुटिया तक नहीं बनवाई । स्वच्छता अभियान को प्रारंभ करने वाले जनक के रूप  में उन्हे सदैव स्मरण किया जावेगा । 
    ’ 
     इस अवसर पर रज्जक समाज सकल पंचायत द्वारा राजवाडा चैक पर पुलवामा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि एवं पुष्पांजलि का कार्यक्रम आयोजित किया ।  इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा, ओपी राय, बबलु सकलेचा, डा.अरविन्द दांतला, कल्याणसिंह डामोर, भूपेश सिंगोड, चेतना चैहान, प्रेमलता महोदिया, पार्षद अजय सोनी, हिमेश महोदिया, नरेन्द्रसिंह महोदिया, पार्षद नरेन्द्र राठौरिया सहित  बडी संख्या में झाबुआ एवं आलीराजपुर जिले के  समाज जन उपस्थित थे । श्रद्धांअर्पित करके के भाजपा जिलाध्यक्ष शर्मा एवं समाजजनों द्वारा रथ में बिराजित श्री गाडगे महाराज की प्रतिमा एव ंचित्र की आरती उतारी गई । और संत गाडगे महाराज की शोभायात्रा नगर के मुख्य मार्गो से होता हुआ बेंड बाजों के साथ निकला । महिलायें जुलुस  के आगे नृत्य एवं गरबा करती हुई चल रही थी । शोभायात्रा का समापन माहेश्वरी समाज के श्री लक्ष्मीपति मंदिर पर किया गया जहां आरती के बाद प्रसादी का वितरण किया गया तथा रज्जक समाज के सभी उपस्थितों ने अपने घर से लेकर पूरे नगर एवं प्रदेश की स्वच्छता का संकल्प दुहराया ।



    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- editor@VoiceofJhabua.com 

    Best Offer

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY