• Trending

    Saturday, February 23, 2019

    ‘रिड्यूसिंग, रिसाइक्लिंग, और रियूजिंग’ पर केंद्रित है प्रतिभा के वस्त्रों की डिजाइन और उत्पादन प्रक्रिया



     
    इंदौर।  मध्यभारत के समृद्ध कपास क्षेत्र में स्थित कंपनी, प्रतिभा, ने अपने चार मूल्यों - लोग, धरती, प्रक्रिया और उत्पाद - के बीच मजबूत तालमेल बनाते हुए वस्त्रों के डिजाइन और उत्पादन में भारी परिर्वतन किया है। अपने प्रगतिशील नजरिये से प्रेरित होकर, प्रतिभा ने 35 हजार से अधिक किसानों, 10 हजार कर्मचारियों और 20 से अधिक देशों के प्रसिद्ध वैश्विक परिधान ब्रांडों सहित पूरे वैल्यू चेन से रिश्ते मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। कंपनी प्रति वर्ष 22 हजार टन कॉटन लिंट, 20 हजार टन यार्न, 10 हजार टन फैब्रिक और 6 करोड़ बुने हुए वस्त्र तैयार करती है।

    शिक्षा के लिए जारी पहल, प्रतिभा ज्ञानपीठ, स्थानीय समुदायों के लोगों को उनके कौशल के विकास और रोजगार के लिए सक्रिय करता है। इसके लिए कंपनी प्रशिक्षण, भोजन, और ठहरने का कोई खर्च नहीं लेती है। इस पहल के अंतर्गत अब तक 5 हजार से अधिक लोग यार्न स्पिनिंग यानी सूत कताई और परिधान निर्माण में प्रशिक्षित हो चुके हैं। इसके अलावा, निम्न-आय वर्ग के कर्मचारियों के अपने घर के सपने को पूरा करने के लिए, कंपनी ने अपने वार्षिेकोत्सव के अवसर पर ब्याज मुक्त आवास की घोषणा की है और फेयर ट्रेड के साथ, कर्मचारियों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए, कंपनी ने रेन कोट, वॉटर प्यूरीफायर, मिक्सर ग्राइंडर और कुकवेयर सेट वितरित किये हैं। कंपनी अपने कर्मचारियों के लिए लगातार इनडोर और आउटडोर खेल, योग सत्र, विभिन्न त्योहारों और अवसरों पर समारोह आयोजित करके आपसी रिश्ते को मजबूत करती है। इसके अलावा कंपनी कर्मचारियों के मनोबल को बढ़ाने के लिए प्रशंसा एवं पुरस्कार देकर उन्हेंर प्रेरित करती रहती है। इसके साथ ही, विशेषज्ञ डॉक्टरों और परामर्शदाताओं की देखरेख में नियमित स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजित किए जाते हैं। कंपनी से जुड़े कर्मचारियों और श्रमिकों के बच्चों की शिक्षा में सहयोग करने के लिए, छात्रवृत्ति कार्यक्रम शुरू किया गया है।


    कंपनी का इको-फ्रेंडली दृष्टिकोण ‘रिड्यूसिंग, रिसाइक्लिंग, और रियूजिंग’ पर केंद्रित है। सभी प्रक्रियाओं में शून्य ताजा पानी का उपयोग किया जाता है। वस्त्रों की नमकमुक्त रंगाई होती है और इस प्रक्रिया में ‘   लो लिकर रेशियो’ वाली डाई मशीनें इस्तेमाल में लायी जाती हैं। पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए प्रतिभा 30 प्रतिशत सौर नवीकरणीय ऊर्जा का उपयोग करती है, और एलईडी लाइट्स इंस्टालेसन, पावर फैक्टर कंट्रोलर भी स्थापित किया गया है। अब तक कंपनी ने ग्रीन हाउस गैस प्रभाव को संतुलित करने के लिए 3 लाख पेड़ लगाये हैं। कचरे के प्रबंधन के लिए कुल कचरे के 90 प्रतिशत का पुनर्नवीनीकरण या पुनरू उपयोग किया जाता है, और यहां तक कि, कपास के कचरे को भी स्टेशनरी में बदल दिया जाता है।

    कंपनी की निर्माण प्रक्रिया पूरी तरह से पर्यावरण-अनुकूल है। इसके लिए कंपनी नमकमुक्त रंगों, खतरनाक रसायनों के जीरो डिस्चार्ज और शून्य लिक्विड डिस्चार्ज पर ध्यान केंद्रित करती है। प्रतिभा पहली गोल्ड प्रमाणित सी2सी परिधान बनाने वाली कंपनी है। कंपनी कार्बनिक और बीसीआई कपास, रिसाइकल्डर पॉलिएस्टर, स्पपन डाइड विस्किस और कई अन्य स्थायी कच्चे माल पर ध्यान केंद्रित करके सर्कुलर फैशन के लिए अपना योगदान देती है।

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- editor@VoiceofJhabua.com 

    Best Offer

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY