• Trending

    Thursday, February 28, 2019

    सोशल मीडिया पर हो रिया है एक्सीडेटल विधायक का विरोध.... जिसके पास भारत के वीर सपुतों को श्रद्धांजंलि देने का समय नी... वो क्या देगा कार्यकर्ता को समय


              सभी को मेरा नमस्कार.... लो भियां मैं फिर आ गिया कुछ कही-अनकही के साथ..... भियां कुछ दिन पेले रात को नींद नी आ री थी.... तो सोचा मोबाईल ही चला लु... मोबाईल चलाते समय भियां सोशल मीडिया पर भोत कुछ कही-अनकही बनाने को मिला....  तभी भियां मेरी नजर फेसबुक पर गई... उस पर मैने देखा  एक्सीडेंटल विधायक को लेकर कार्यकर्ताओं में जंग छिडी हुई है... भियां जंग छेडने वाले कोई छोटे मोटे नी थे... बडे बडे दिग्गज थे... जो विरोध स्वरूप अपने अपने कमेंट कर रिये थे....  भियां मैने सोचा ये तो नेता नगरी में सब चलता है... आज विरोध कर रिये है तो कल भियां वापस वैसे तो जायेगे। 

            ये देख कर भियां मैं सो गिया... सुबह जब उठा तो मन नी माना... आखिर क्यों  बडे बडे दिग्गजों को विरोध करना पड रिया... तब मैं लग गिया मामले की तह तक पहुंचने में.... तब पता चला भियां विरोध तो  भोत हो रिया है.... उस दिन सोशल मीडिया पर एक्सीडेटल विधायक को लेकर एक पोस्ट डली थी... जिसे लेकर सोशल मीडिया पर कार्यकर्ताओं ने खुब भडास निकाली... निकाले भी क्यो नी... जिन्होने भियां पार्टी के लिए हर समय झंडे उठाये.... पार्टी के लिए समर्पित होकर काम किया...  आज जब उन्हे मदद की जरूरत पडती है तो भियां साहब सिर्फ मीटिंग में होते.... मीटिंग भी ऐसी होती है जो  ख़तम नी होती 

              भियां ये पेले ऐसे एक्सीडेंटल विधायक जो इतने व्यस्त है कि उन्हे भारत के वीर सपुत... जो पुलवामा हादसे में मारे गए उन्हे श्रद्धाजलि देने का समय नी है..... तो भियां... बिना वजह का काम लाने वाले कार्यकर्ताओं के लिए क्या समय होगा। वो भारत के वीर सपुत जिनकी वजह से हम सुरक्षित रहते है.... उन्हे व्यस्तता की वजह से सलाम करने का समय नी है वो क्या ऐसे छोटे मोटो से मिल पाऐंगे... जब भियां पाकिस्तानियों को भारत की सेना ने मार गिराया तब पुरा शहर आपसी झगडों को छोड जीत की खुशी में पुरे नगर में ढोल ढमाके के साथ मना रिया था तब एक्सीडेटल विधायकजी के पास समय नी था... तो तुमकों क्या समय देंगे...। 

             अब भियां समझ जाओ... झंडे तोकने वाला... झंडे तोकता रे जाता है... बाद में उनकी कोई नी सुनता... भियां जिले की अयोध्या की जाने वाली कल्याणपुरा के 35 लोगों का एक साथ कांग्रेस में जाना.... बडी सोचनीय बात है...। ऐसे सोशल मीडिया पर गुस्सा निकालने से कुछ नी होता... पार्टी की असली ताकत झंडे तोकने वाले ही होते है... उपर वालों को तो अभी गांधी छाप ही नजर आ रिये है... जब झंडे तोकने वाले नी रेंगे तब उपर वालों को समझ आयेगा....।

             अब जा रिया.... लेकिन जाते जाते एक बात और बिता दुं.... जैसे ही भियां ये कही-अनकही अपनी जात को छुपाकर भील से सामान्य वर्ग का बनने वाला  पढ़ेगा ... तो भियां वो तरह तरह के कयास लगायेगा... भियां कही-अनकही पढने वालो मैं तुमकों ये बिता दुं... ये कब से मेरे खिलाफ साजिश रच रिया है... भियां मै तो सच्चा हुं... तुमने तो जात के साथ साथ क्या बदल लिया.... ये अभी किसी को नी मालुम... अब जा रिया........ जय राम जी की। 

    @Editor

    अपने शहर की खबरें , फोटो , वीडियो आदि भेजने के लिए हमें सीधे ईमेल करे :- editor@VoiceofJhabua.com 

    Best Offer

    RECENT NEWS

    PHOTO GALLERY